इंदौर. इंदौर के खालसा स्टेडियम में गुरु नानक जयंती पर सिखों के धार्मिक कार्यक्रम में वरिष्ठ कांग्रेस नेता कमलनाथ के स्वागत-सम्मान के विवाद के बाद इस जगह को राहुल गांधी नीत भारत जोड़ो यात्रा के प्रस्तावित रात्रि विश्राम स्थल के रूप में इस्तेमाल करने का मामला खटाई में पड़ गया है. सत्तारूढ़ भाजपा ने चेतावनी दी है कि अगर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ यात्रा के साथ स्टेडियम में आए तो भाजपा कार्यकर्ता काले झंडे दिखाकर उनका विरोध करेंगे.

विवाद की शुरुआत तब हुई, जब गुरु नानक जयंती के कार्यक्रम में कमलनाथ के स्वागत-सम्मान के बाद मशहूर कीर्तनकार मनप्रीत सिंह कानपुरी ने वर्ष 1984 के सिख विरोधी दंगों की हिंसा की ओर स्पष्ट इशारा करते हुए आयोजकों पर तीखे शब्दों में मंच से नाराजगी जताई थी.

कांग्रेस के राज्यसभा सदस्य और भारत जोड़ो यात्रा की आयोजन समिति के प्रमुख दिग्विजय सिंह से इंदौर में मंगलवार को मीडिया ने पूछा कि क्या इस विवाद के बाद भी खालसा स्टेडियम में यात्रा को रात्रि विश्राम कराया जाएगा. उन्होंने इस सवाल का सीधा जवाब टालते हुए कहा, ‘‘यात्रा का मार्ग और विश्राम स्थल मैं या मेरी पार्टी तय नहीं करती. यह काम राहुल गांधी का सुरक्षा दल करता है जिसमें केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) शामिल है.’’

सिंह ने वर्ष 1984 में तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की हत्या के बाद भड़के सिख विरोधी दंगों में कमलनाथ की भूमिका को लेकर भाजपा द्वारा अक्सर लगाए जाने वाले आरोपों से अपने साथी नेता का बचाव भी किया. उन्होंने कहा, ‘‘उस घटना (1984 के सिख विरोधी दंगे) के बाद भाजपा और अकाली दल लम्बे समय तक एक साथ सत्ता में रहे, फिर भी इनकी साझी सरकार ने कमलनाथ पर कोई मामला दर्ज नहीं किया क्योंकि इस मामले में उनके खिलाफ कोई प्रमाण ही नहीं है. केवल झूठी बातें करना भाजपा की आदत में शुमार है.’’

उधर, स्थानीय भाजपा नेता सुमित मिश्रा ने कहा कि अगर ‘भारत जोड़ो यात्रा’ के साथ कमलनाथ खालसा स्टेडियम पहुंचते हैं तो काले झंडे दिखाकर उनका विरोध किया जाएगा. उन्होंने कहा,‘‘खालसा स्टेडियम में हुए विवाद के बाद कमलनाथ को इस जगह से दूर रहना चाहिए.’’ शहर कांग्रेस अध्यक्ष विनय बाकलीवाल के मुताबिक राहुल गांधी की अगुवाई वाली ‘भारत जोड़ो यात्रा’ 27 या 28 नवंबर को इंदौर पहुंचेगी और रात्रि विश्राम करेगी. उन्होंने बताया कि यात्रा के रात्रि विश्राम स्थल के विकल्पों के रूप में जिन जगहों पर विचार जारी है, उनमें खालसा स्टेडियम के अलावा वैष्णव स्टेडियम और चिमनबाग खेल मैदान शामिल हैं. बाकलीवाल ने बताया कि इंदौर या इसके आस-पास भारत जोड़ो यात्रा में कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे और पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी भी शामिल हो सकती हैं.

स्थानीय सिख समुदाय में कमलनाथ से जुड़े विवाद की चर्चाओं के बीच खालसा स्टेडियम का रख-रखाव करने वाली खालसा एजुकेशन सोसायटी के अध्यक्ष चरणजीत सिंह सैनी ने दावा किया कि ‘भारत जोड़ो यात्रा’ में शामिल लोगों को स्टेडियम में रात्रि विश्राम कराने की मंजूरी के लिए कांग्रेस ने इस समिति के साथ अब तक कोई \”आधिकारिक पत्राचार\” नहीं किया है. उन्होंने कहा कि उन्हें मीडिया की खबरों से ही इस बारे में जानकारी मिल रही है.

youtube channel thesuccessmotivationalquotes