अनुराग कश्यप और तापसी पन्नू की बढ़ी मुश्किलें, IT को मिले 650 करोड़ के हेराफेरी के सबूत

vedantbhoomidigital
0 0
Read Time:6 Minute, 9 Second

मुंबई : बॉलीवुड फिल्म डायरेक्टर अनुराग कश्यप और बॉलीवुड अभिनेत्री तापसी पन्नू की मुश्किलें बढ़ सकती है. दोनों के घर और दफ्तरों पर आयकर विभाग ने छापेमारी कर कई ऐसे दस्तावेज जब्त किये हैं जिसमें करोड़ों की टेक्स हेराफेरी की बात का पता चला है. आयकर विभाग ने आज दूसरे दिन भी दोनों से पूछताछ की और उनके लैपटॉप और इलेक्ट्रानिक सामानों को अपने कब्जे में लिया है. छापेमारी अभी भी जारी है.

केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी) ने गुरुवार को दावा किया कि आयकर विभाग द्वारा दो फिल्म निर्माण कंपनियों, दो प्रतिभा प्रबंधन कंपनी और एक मशहूर अभिनेत्री के ठिकानों पर की गई छापेमारी में 650 करोड़ रुपये से अधिक की वित्तीय अनियमित्ताओं का पता चला है. हालांकि, उसने किसी का नाम नहीं लिया. आयकर विभाग ने बॉलीवुड अभिनेत्री तापसी पन्नू और फिल्मकार अनुराग कश्यप व उनके साझेदारों के घरों और कार्यालयों पर बुधवार को छापेमारी की थी.

उन्होंने बताया कि यह छापेमारी फैंटम फिल्म्स के खिलाफ कर चोरी की जांच का एक हिस्सा है. यह छापेमारी मुंबई, पुणे और हैदराबाद में 30 स्थानों पर की गई जिसमें सेलिब्रिटी और प्रतिभा प्रबंधन कंपनी केडब्ल्यूएएन और ऐक्सीड के कुछ अधिकारी भी शामिल हैं. छापेमारी की कार्रवाई के एक दिन बाद बिना किसी का नाम लिए सीबीडीटी ने कहा कि जिन कंपनियों के परिसरों की तलाशी ली गई, वे फिल्म, वेब सीरीज के निर्माण और अभिनय, निर्देशन एवं प्रतिभा प्रबंधन के क्षेत्र से जुड़े हुए हैं.

वहीं, आधिकारिक सूत्रों ने इनकी पहचान पन्नू और फैंटम फिल्म्स के पूर्व प्रर्वतक कश्यप, निर्माता-निर्देशक विक्रमादित्य मोटवानी, निर्माता विकास बहल और निर्माता-वितरक मधु मंटेना के रूप में की है. सूत्रों ने सेलिब्रिटी और प्रतिभा प्रबंधन कंपनियों की पहचान केडब्ल्यूएएन और एक्सीड के रूप में की है. उन्होंने बताया कि फिल्म निर्माण से जुड़ी जिस दूसरी कंपनी पर छापेमारी की गई, वो अनुराग कश्यप से संबंधित है. सीबीडीटी ने एक बयान में कहा कि बॉक्स ऑफिस पर फिल्म की वास्तविक कमाई की तुलना में अग्रणी फिल्म निर्माण कंपनियों द्वारा आय को काफी कम करके दिखाने के साक्ष्य का पता लगाया गया है.

इसमें आरोप लगाया गया, ‘फिल्म निर्देशकों और साझेदारों के बीच फिल्म निर्माण कंपनियों के शेयर लेन-देन के हेरफेर और कम मूल्यांकन संबंधी साक्ष्य भी सामने आये हैं और करीब 350 करोड़ रुपये की कर पेचिदगियां पाई गई हैं. इनके बारे में आगे जांच की जा रही है.’ सीबीडीटी ने दावा किया, ‘एक मशहूर अभिनेत्री द्वारा पांच करोड़ की रकम नकद प्राप्त करने के भी साक्ष्य मिले हैं और इस बारे में आगे की जांच जारी है.’ उन्होंने दावा किया कि इसी तरह की कई वित्तीय अनियमित्ताओं की जानकारी सामने आई है.

राहुल गांधी ने आयकर विभाग की छापेमारी को लेकर गुरुवार को आरोप लगाया कि ‘खिसियानी बिल्ली खंभा नोचे’ की तर्ज पर सरकार किसान समर्थकों के खिलाफ छापेमारी करवा रही है. उन्होंने ट्वीट किया, ‘कुछ मुहावरे : उंगलियों पर नचाना- केंद्र सरकार आयकर विभाग, ईडी, सीबीआई के साथ ये करती है. भीगी बिल्ली बनना- केंद्र सरकार के सामने मित्र मीडिया. खिसियानी बिल्ली खंभा नोचे- जैसे केंद्र सरकार किसान-समर्थकों पर रेड कराती है.’

राहुल गांधी पर पलटवार करते हुए केंद्रीय मंत्री और वरिष्ठ भाजपा नेता प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि मीडिया की स्वतंत्रता पर कांग्रेस का ज्ञान देना ‘सौ चूहे खाकर बिल्ली हज को चली’ की तरह है. राहुल गांधी के हमले को लेकर पलटवार करते हुए जावड़ेकर ने ट्वीट किया, ‘राहुल गांधी जी, इन मुहावरों को भी याद करिये. 1. सौ चूहे खाकर बिल्ली चली हज को – आपातकाल में मीडिया की आजादी पर अंकुश लगाने वाली कांग्रेस का मीडिया की आजादी पर ज्ञान देना. उंगली पर गिने जा सकना – कांग्रेस की मौजूदा स्थिति और चुनाव में स्थिति. रंगा सियार – सबसे सांप्रदायिक पार्टी सेकुलरिज्म का ढोंग करती है. एक परिवार की पार्टी अब लोकतंत्र पढ़ा रही है.’

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %
Next Post

मंत्री रविन्द्र चौबे से सम्बद्ध विभागों की 7785 करोड़ रूपए की अनुदान मांगे ध्वनित से पारित

कृषि विभाग के बजट में 13 प्रतिशत की वृद्धि,किसानों को लाभ पहुंचाने लाख और मछली पालन को कृषि का दर्जा छत्तीसगढ़ में दो वर्षों में कृषि के क्षेत्र में रकबा और उत्पादन बढ़ा कोरोना काल में किसानों के खाते में 23555 करोड़ रूपए हस्तांतरित सभी प्राथमिक सहकारी समितियों में बनेगा […]

You May Like