जयपुर. राजस्थान में उदयपुर के पास एक रेलवे पुल पर पटरी पर हुए विस्फोट की जांच राजस्थान आतंकवाद निरोधी दस्ते (एटीएस-एसओजी) ने शुरू कर दी है. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने सोमवार देर रात वरिष्ठ अधिकारियों के साथ उच्च स्तरीय बैठक में यह फैसला लिया.

अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (एटीएस और एसओजी) अशोक राठौड़ अन्य अधिकारियों के साथ मौके पर पहुंचे और स्थानीय पुलिस और खुफिया अधिकारियों से बात की. राठौड़ ने संवाददाताओं से बातचीत में कहा कि मौके पर जांच के दायरे के बारे में चर्चा की गई और इस संबंध में फिर विस्तृत चर्चा की जाएगी.

गहलोत ने उदयपुर में ओड़ा रेलवे पुल के ट्रैक पर हुए विस्फोट को लेकर वरिष्ठ अधिकारियों के साथ उच्च स्तरीय बैठक की, जिसमें इस घटना की जांच राजस्थान एटीएस-एसओजी से कराने का निर्णय किया गया. उल्लेखनीय है कि ओड़ा रेलवे पुल पर उदयपुर-अहमदाबाद को जोड़ने वाले रेलवे ट्रैक पर शनिवार-रविवार की दरमियानी रात को विस्फोट हुआ था.

ओड़ा रेलवे पुल उदयपुर के जावर माइंस थाना क्षेत्र में आता है. स्थानीय लोगों ने देर रात विस्फोट की आवाज सुनी थी और रविवार सुबह घटनास्थल पर पहुंचे दो युवकों ने विस्फोटक व क्षतिग्रस्त पटरी देख कर रेलवे को इसकी सूचना दी. यह रेल लाइन 31 अक्टूबर को शुरू की गई थी, जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अहमदाबाद में असावरा रेलवे स्टेशन से असावरा-उदयपुर एक्सप्रेस को हरी झंडी दिखाई थी.

उत्तर पश्चिम रेलवे के एक प्रवक्ता ने सोमवार को जयपुर में कहा था कि एटीएस की एक टीम ने रविवार रात 11 बजे ट्रैक क्लीयरेंस देने के बाद रेलवे इंजीनियरों ने ट्रैक की मरम्मत की और इसे सुबह 3.30 बजे ट्रेन की आवाजाही के लिए सुरक्षित घोषित किया गया.

youtube channel thesuccessmotivationalquotes