बीजापुर : नदी में नाव पलटने से स्वास्थ्य कर्मचारी की मौत

8

दतेवाड़ा. बीजापुर जिले में नदी पार करने के दौरान नाव के पलटने से स्वास्थ्य विभाग के एक कर्मचारी मौत हो गई. अधिकारियों ने मंगलवार को यह जानकारी दी.  बीजापुर जिले के जिला कार्यक्रम प्रबंधक (स्वास्थ्य विभाग) संदीप ताम्रकर ने बताया कि सोमवार देर शाम इंद्रावती नदी में नाव पलटने से उसमें सवार स्वास्थ्य र्किमयों में से एक फार्मासिस्ट प्रदीप कौशिक (27) की मौत हो गई.

ताम्रकर ने बताया कि स्वास्थ्य विभाग का दल सोमवार को नदी पार कर कोसलनार गांव में स्वास्थ्य शिविर के लिए गया था. शाम को वापसी के दौरान सभी लोग दो नावों में सवार हो गए. उन्होंने बताया कि वह (ताम्रकर) भी इस शिविर में गए थे और एक नाव से वह और अन्य लोगों ने नदी पार कर ली. उन्होंने बताया कि  दूसरी नाव में एक चिकित्सक, दो महिला स्वास्थ्य कर्मी और फार्मासिस्ट कौशिक सवारी थे, जो नदी के बीच में पलट गई.

ताम्रकर ने बताया कि नाव पलटने पर नाविक ने सभी से बचाव के लिए नाव की लकड़ी पकड़ने को कहा, अन्य लोगों ने तो ऐसा किया लेकिन कौशिक नदी की तेज धार में बह गए. अधिकारी ने बताया कि घटनास्थल दंतेवाड़ा और बीजापुर जिले की सीमा पर स्थित है. घटना के बाद नजदीकी पुलिस थाने बारसूर (दंतेवाड़ा) से संपर्क किया गया, जिसके बाद पुलिस कर्मी मौके पर पहुंचे. वहीं राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) के जवान भी घटनास्थल पहुंच गए और कौशिक की खोज शुरू की गई.

ताम्रकर ने बताया कि मंगलवार सुबह कौशिक का शव बरामद होने पर उसे पोस्टमार्टम के लिए दंतेवाड़ा भेजा गया. छत्तीसगढ़ के बस्तर स्थित दूरदराज के गावों में स्वास्थ्य सुविधा पहुंचाने के लिए स्वास्थ्य विभाग के दलों को नदी—नाले पार करने के लिए अक्सर नाव का सहारा लेना पड़ता है.