गुजरात के आगामी विधानसभा चुनाव में पिछले सभी रिकार्ड तोड़ेगी भाजपा: शाह

5

अहमदाबाद. केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने मंगलवार को विश्वास जताया कि आगामी गुजरात विधानसभा चुनाव में सत्तारूढ़ भाजपा पिछले सभी रिकॉर्ड तोड़ते हुए सबसे अधिक सीट एवं वोट हासिल करके राज्य में एक बार फिर सरकार बनाएगी. साणंद विधानसभा सीट से भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के उम्मीदवार कनुभाई पटेल जब चुनाव अधिकारियों के पास अपना नामांकन पत्र दाखिल करने गए, तो शाह उनके साथ थे.

पटेल कोली समुदाय से आते हैं और वह साणंद से मौजूदा विधायक हैं. साणंद शाह के गांधीनगर लोकसभा क्षेत्र के अंतर्गत आता है.
शाह ने कहा, ‘‘गुजरात भाजपा इस विधानसभा चुनाव में पिछले सभी रिकॉर्ड तोड़ देगी. हम सभी को विश्वास है कि भाजपा अब तक की सबसे ज्यादा सीटें जीतकर और अब तक के सबसे ज्यादा वोट पाकर एक बार फिर यहां भारी बहुमत के साथ सरकार बनाएगी.’’

शाह ने कहा, ‘‘प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में, गुजरात के मुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल ने राज्य में कई विकास कार्य किए हैं. कानून और व्यवस्था को मजबूत किया गया है और उन्होंने (मुख्यमंत्री पटेल ने) अर्थव्यवस्था को भी गति दी है और स्वास्थ्य, शिक्षा और विभिन्न क्षेत्रों में सुधार किया है.’’ शाह ने कहा कि भूपेंद्र पटेल ने दलितों, आदिवासियों और अन्य पिछड़ा वर्ग (ओबीसी) के समग्र विकास के लिए मोदी द्वारा गुजरात का मुख्यमंत्री रहने के दौरान विकसित मॉडल को आगे बढ़ाया.

गुजरात की 182 सदस्यीय विधानसभा के लिए दो चरणों में एक और पांच दिसंबर को मतदान होगा. पहले चरण में 89 सीट पर और दूसरे चरण में साणंद सहित 93 सीट पर मतदान होगा. दूसरे चरण के लिए नामांकन दाखिल करने की अंतिम तिथि 17 नवंबर है.
भाजपा द्वारा मौजूदा विधायक कनुभाई पटेल को फिर से टिकट दिए जाने के बाद, टिकट पाने की उम्मीद कर रहे स्थानीय पार्टी नेता एवं साणंद कृषि उपज मंडी समिति (एपीएमसी) अध्यक्ष खेंगर पटेल ने कनुभाई पटेल के खिलाफ निर्दलीय चुनाव लड़ने की घोषणा की.
हालांकि, शाह से मुलाकात के बाद खेंगर पटेल ने चुनाव लड़ने की अपनी योजना छोड़ दी और जब कनुभाई पटेल नामांकन पत्र दाखिल करने गए तो वह उनके साथ भी गए.

शाह ने कहा, ‘‘हालांकि एपीएमसी अध्यक्ष खेंगरभाई ने पहले (चुनाव लड़ने के लिए) नामांकन पत्र दाखिल करने की घोषणा की थी, लेकिन हमें खुशी है कि उन्होंने भाजपा की अपील का सम्मान किया और अपनी योजना छोड़ दी. उन्होंने कनुभाई को समर्थन दिया है. मुझे विश्वास है कि भाजपा यह सीट पिछले चुनाव से भी ज्यादा अंतर से जीतेगी.’’