आरोग्य जीवन के लिए योग के वैज्ञानिक पक्ष पर मंथन,छत्तीसगढ़ योग आयोग द्वारा राज्य स्तरीय सेमीनार सह वेबीनार का आयोजन 7 फरवरी से

vedantbhoomidigital
0 0
Read Time:2 Minute, 47 Second

रायपुर, 6 फरवरी 2021 : समाज कल्याण विभाग अंतर्गत संचालित छत्तीसगढ़ योग आयोग द्वारा रायपुर के माना कैम्प स्थित राज्य संसाधन एवं पुनर्वास केन्द्र में 07 से 09 फरवरी तक सुबह 10 बजे से योग विषय पर तीन दिवसीय ’राज्य स्तरीय सेमीनार सह वेबीनार 2021’ किया जा रहा है। कार्यक्रम का उदेद्श्य योग को आमजनों विशेष कर युवाओं के समग्र व्यक्तित्व विकास से जोड़ते हुए आरोग्य जीवन के लिए योग की आवश्यकता पर वैचारिक व वैज्ञानिक पक्ष को प्रस्तुत करना है।

सेमीनार सह वेबीनार की मुख्य थीम ’’आज का योग कितना यौगिक ? चुनौतियां एवं भविष्य’’ है। कार्यक्रम में योग से संबंधित तकनीकी सत्र, योग सत्संग, शोध-पत्रों का प्रस्तुतिकरण एवं विषय विशेषज्ञों के व्याख्यान होंगे। वेबीनार का शुभारंभ वशिष्ठ योग आश्रम अहमदाबाद के योग गुरू धीरज वशिष्ठ के वर्चुअल मुख्य उद्बोधन से होगा।

कार्यक्रम में ’वशिष्ठ योग-एक परिचय’,’योग का आधुनिक शोध  में  महत्व’,’योग और आहार’,’योग एवं प्राकृतिक चिकित्स-कल, आज और कल’,’वर्तमान समस्याएं और संस्कार पद्धतियां’,’आधुनिक जीवनशैली में योगासनों का प्रयोग कितना महत्वपूर्ण’,’व्यक्तित्व विकास में योग की भूमिका’,’योग एवं मंत्र का दैनिक जीवन में व्यवहारिक उपयोग कितना सफल’ जैसे विभिन्न विषयों पर योग गुरूओं और विषय विशेषज्ञों के माध्यम से मंथन किया जाएगा।

सेमीनार सह वेबीनार में कोरोना प्रोटोकाल का पालन करते हुए रायपुर संभाग के लगभग 150 योग साधक प्रत्यक्ष रूप से और रायपुर के बाहर के योग साधक एवं अन्य नागरिकगण ऑनलाईन सम्मिलित होंगे। वेबीनार में सम्मिलित होने के लिए आनलाईन पंजीयन यू आर लिंक http://bit-ly/CGYogAayog अथवा छत्तीसगढ़ योग आयोग के ऑफिशियल फेसबुक पेज पर किया जा सकता है।

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %
Next Post

स्वयंसिद्धा बनीं दिव्यांग महिलाएं : ‘फुलझर कलेवा’ में बिखेर रहीं छत्तीसगढ़ी स्वाद और संस्कृति का खजाना

रायपुर 06 जनवरी 2021 : महिलाएं अब घरों की चार दीवारी तक ही सीमित न रहकर अपनी कार्यकुशलता और क्षमता से परिवार का नाम रोशन करने के साथ समाज के लिए भी प्रेरणा स्त्रोत बन रहीं हैं। इन्हीं महिलाओं में महासमुंद जिले के बसना जनपद पंचायत परिसर में स्थित ‘‘फुलझर […]

You May Like