केंद्र व निर्वाचन आयोग ‘बांग्लादेशी प्रवासियों’ पर टीएमसी विधायक के बयान का संज्ञान ले : भाजपा

8

कोलकाता: बंगाल में भाजपा नेतृत्व ने शुक्रवार को केंद्रीय गृह मंत्रालय और निर्वाचन आयोग से एक तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) विधायक की टिप्पणियों का संज्ञान लेने का आग्रह किया, जिसमें कथित तौर पर पार्टी कार्यकर्ताओं से यह सुनिश्चित करने के लिए कहा गया था कि राज्य में केवल उन ‘बांग्लादेशी’ प्रवासियों को ही मतदाता सूची में जगह मिले जो सत्ता पक्ष का समर्थन करते हैं।

भाजपा ने कहा कि एक निर्वाचित प्रतिनिधि की ऐसी टिप्पणियां राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए हानिकारक हैं। सोशल मीडिया पर प्रसारित, एक वीडियो ने राज्य में विवाद पैदा कर दिया है, जिसमें पश्चिम बंगाल के एक विधायक कथित तौर पर टीएमसी कार्यकर्ताओं से यह सुनिश्चित करने के लिए कह रहे हैं कि राज्य में सत्ताधारी पार्टी का समर्थन करने वाले बांग्लादेशी प्रवासियों को ही मतदाता सूची में जगह मिले।

मालूम हो कि पश्चिम बंगाल और देश के बाकी हिस्सों में मसौदा मतदाता सूची संशोधन का काम चल रहा है। कथित वीडियो में, बर्धमान दक्षिण से विधायक खोकन दास को यह कहते हुए सुना जा सकता है, ‘‘कई नए लोग आ रहे हैं…वे बांग्लादेश से हैं। इनमें से कई लोग ंिहदू भावनाओं के आधार पर भाजपा को वोट देते हैं। कृपया सुनिश्चित करें कि हमारी पार्टी का समर्थन करने वालों को ही मतदाता सूची में जगह मिले।’’ विधायक संभवत: मंगलवार शाम बर्धमान कस्बे में एक जनसभा को संबोधित कर रहे थे।

पीटीआई स्वतंत्र रूप से वीडियो की प्रामाणिकता की पुष्टि नहीं कर सका। विपक्ष के नेता शुभेंदु अधिकारी ने कहा, ‘‘हम केंद्रीय गृह मंत्रालय से इस मामले में संज्ञान लेने का अनुरोध करते हैं। सत्तारूढ़ दल के एक विधायक की ओर से आने वाली ऐसी टिप्पणियां राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए हानिकारक हैं। ऐसे बयानों को हल्के में नहीं लिया जा सकता है।’’

पश्चिम बंगाल भाजपा नेतृत्व ने भी पश्चिम बंगाल के मुख्य निर्वाचन अधिकारी को पत्र लिखकर टीएमसी विधायक के खिलाफ तत्काल कार्रवाई की मांग की है। प्रदेश भाजपा के एक अन्य नेता ने कहा, ‘‘हमने चुनाव आयोग को लिखा है और उनसे टीएमसी विधायक के खिलाफ तत्काल कार्रवाई करने का अनुरोध किया है। कई जगहों पर, सत्तारूढ़ पार्टी मतदाता सूची में हेरफेर करने के लिए अपने प्रभाव का उपयोग कर रही है, और जिला प्रशासन मूकदर्शक बना हुआ है।

निर्वाचन आयोग को अवश्य ही इस मामले को देखना चाहिए।’’ टीएमसी नेतृत्व ने, हालांकि, भाजपा की शिकायतों को अधिक महत्व देने से इनकार कर दिया। टीएमसी के वरिष्ठ नेता सौगत रॉय ने कहा, ‘‘भाजपा राज्य में खत्म है। उनके पास हर मुद्दे पर रोते रहने के अलावा कुछ नहीं है। टीएमसी कहीं भी मतदाता सूची को प्रभावित करने की कोशिश नहीं कर रही है।’’

youtube channel thesuccessmotivationalquotes