छत्तीसगढ़ : स्वाद के साथ सेहत के लिए बहुत फायदेमंद है लैलूंगा का जवाफूल चावल

vedantbhoomidigital
0 0
Read Time:1 Minute, 39 Second

किसानों ने 6 घंटे में बेचा लगभग ढाई लाख का चावल

17 मार्च को भी बूढ़ा तालाब रायपुर के पास जारी रहेगी प्रदर्शनी

रायपुर : नगर निगम परिसर रायपुर में रायगढ़ जिले के अंतर्गत लैलूंगा क्षेत्र के प्रसिद्ध जैविक जवाफूल चावल की प्रदर्शनी को जबरदस्त रिस्पांस मिला है। शहरवासियों ने बढ़-चढ़कर खरीददारी की है। किसानों ने 6 घंटे में लगभग ढाई लाख रुपये का 1 हजार 6 सौ 50 किलो चावल बेच लिया। लोगों के इस उत्साह को देखते हुये यह प्रदर्शनी आज 17 मार्च को भी सुबह 11 से शाम 5 बजे तक बूढ़ा तालाब के पास, रायपुर में जारी रहेगी।

लैलूंगा क्षेत्र में उगाए जाने वाले जवाफूल चावल की महक और स्वाद प्रदेश के साथ पूरे देश में मशहूर है। दिल्ली स्थित छत्तीसगढ़ भवन में कई बार इनकी प्रदर्शनी लगायी जा चुकी हैं। जिसमें जवाफूल चावल की काफी डिमांड रही है। आर्गेनिक और एरोमेटिक यह चावल स्वाद के साथ सेहत के लिहाज से भी फायदेमंद है। जैविक विधि से उत्पादन के कारण यह केमिकल फ्री है। इसमें पोषक तत्व भी प्रचुर मात्रा में होते है।

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

छत्तीसगढ़ : गिरौदपुरी मेला विकास समिति का पुनर्गठन

रायपुर : राज्य सरकार द्वारा गिरौदपुरी मेला विकास समिति का पुनर्गठन किया गया है। जगतगुरू गुरू गद्दीनशीन विजय कुमार गुरू की अध्यक्षता में पुनर्गठित समिति में 44 सदस्य मनोनीत किये गये हैं। जिला कलेक्टर बलौदाबाजार-भाटापारा समिति के सदस्य सचिव होंगे। संस्कृति विभाग द्वारा महानदी भवन अटल नगर रायपुर से इस […]

You May Like