छत्तीसगढ़ : टीचर के सेक्सुअल हैरेसमेंट से तंग आकर छात्रा ने की आत्महत्या

vedantbhoomidigital
0 0
Read Time:5 Minute, 59 Second

बिलासपुर : छत्तीसगढ़ के बिलासपुर में 16 साल के छात्र ने अपनी केमेस्ट्री टीचर के सैक्सुअल हैरेसमेंट से तंग आकर जान दे दी। यह एक जीनियस की भी मौत थी। इसका पता छात्र के सुसाइड नोट और वीडियो से चलता है। मरने से पहले छात्र ने वीडियो बनाया। उसे शेड्यूल किया और फिर एक-एक कर दोस्तों को उनके मोबाइल पर मिलना शुरू हुआ। वहीं पुलिस ने सुसाइड नोट भी बरामद किया, लेकिन उसे डिकोड कर आरोपी महिला टीचर तक पहुंचने में ही 5 दिन लग गए।

दरअसल, छात्र ने जो सुसाइड नोट लिखा था, उसके लिए उसने एप साइफर का इस्तेमाल किया। इसके जरिए अंग्रेजी के शब्दों को इधर से उधर खिसका कर नए शब्द बनाए गए। पुलिस के साइबर एक्सपर्ट प्रशांत तिवारी बताते हैं कि जैसे A की जगह D लिखा गया। साथ ही मैसेज को भेजने के लिए टाइमर भी सेट किया जा सकता है। जिससे उसे शेड्यूल किया जा सके। छात्र ने ऐसे ही शब्दों का चयन कर 4 पेज का सुसाइड लेटर लिखा था।

पुलिस की जांच में यह भी सामने आया है कि महिला टीचर और छात्र घटना से कुछ दिन पहले एक मॉल में मिले थे। छात्र को पहले ही संदेह था। ऐसे में उसने 15 मिनट के लिए टीचर का मोबाइल मांगा और उसे लौटा दिया। इतनी देर में छात्र ने मोबाइल का कैमरा, उसके सारे फंक्शन, सोशल मीडिया एकाउंट सब हैक कर लिए। टीचर अपने प्रेमी से जब बात करती, तो छात्र को पता चल जाता। मरने से पहले छात्र ने अपने फेसबुक पर सब सार्वजनिक कर दिया।

छात्र ने अपने सुसाइड नोट में उस स्कूल स्टाफ का भी जिक्र किया है, जिससे महिला टीचर का अफेयर था। छात्र ने किसी ‘श्री लला’ को संबोधित करते हुए लिखा है, सर को बताएं कि मैं उससे प्यार करता था। वह सबसे अच्छे शिक्षक थे, जिन्हें मैंने अपनी आंखों से देखा था। उसे बताएं कि मैं उसके साथ अधिक समय बिताना चाहता था। कोई भी उन्हें पसंद नहीं करता था, लेकिन मैंने किया। वह अब तक मुझे मिले सबसे अच्छे इंसानों में से एक थे। मुझे उनसे कभी डर नहीं लगा। शिक्षक के रूप में नहीं, पुरुष के रूप में नहीं।

छात्र ने आगे महिला टीचर के लिए लिखा है कि वह मुझे छोटी-छोटी चीजों के लिए अक्सर ब्लॉक कर देती थी और जरूरत पड़ने पर अनब्लॉक। तब मैंने उससे पूछा थी कि वास्तविक जीवन में कैसे ब्लॉक करेंगी। छात्र ने आगे लिखा है, जब जून में उसने मजाक में पूछा था कि कोई और मिल गया है क्या, तो उसने कहा था कि क्या मेरा एक साथ 10 के साथ चक्कर चलेगा। फिर बोली थी कि बस कभी शक मत करना।

https://mitanbhoomi.com/breaking-news/the-mayor-made-a-surprise-inspection-of-the-work-of-the-under-construction-sewerage-treatment-plant-to-make-the-kharun-river-free-of-pollution/

छात्र ने लिखा है कि पहले उसने प्यार में फंसाया। फिर जब उसको गहराई से हो गया तो छोड़ने की बात करती थी। मैं मनाता था तो मान जाती। जैसे ही कोई बड़ा काम कर देता तो उसका व्यवहार बदल जाता। उसे इस्तेमाल करना था। उधर सर के साथ, इधर मेरे साथ। अच्छे से पूरा निचोड़ के इस्तेमाल करो, मानसिक, शारीरिक शोषण करो। उसे पता था मैं बेस्ट हूं, पर बर्बाद कर दी। मैं कभी माफ करने वाला नहीं हूं। सब से माफी मांगे वो। कर्म से नहीं बच पाएगी वो।

छात्र ने लिखा है कि वह मरना नहीं चाहता था। उसे लगभग सब कुछ दे दिया। जो नहीं दिया, उसने उसे चुरा लिया। मैंने खुद को खो दिया है। मैं हर रोज दर्द में नहीं रह सकता। मैं यह देखने के लिए नहीं रह सकता कि वह अन्य लोगों के जीवन को नष्ट कर दे। अब आप सभी को मेरा बदला लेना है। मेरी मौत व्यर्थ नहीं थी। मैं आपको एक सुसाइड नोट पीडीएफ भी भेजूंगा, जो निश्चित रूप से एक पासवर्ड के साथ बंद होगा। उसका जीवन नरक बन जाए।

तोरवा क्षेत्र में 18 मार्च को छात्र ने फंदा लगाकर सुसाइड कर लिया था। पिता के अलग होने के बाद छात्र अपनी मां के साथ रहता था। घटना के समय उसकी मां मंदिर गई हुई थी। जांच में पता चला कि स्कूल की केमेस्ट्री टीचर ही छात्र का यौन शोषण करती थी। उसे अश्लील चैट भेजती थी और उसके साथ शारीरिक संबंध भी बनाती थी। इस दौरान छात्र उससे एक तरफा प्यार करने लगा, लेकिन जब छात्र को सच्चाई पता चली तो उसने फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली।

https://mitanbhoomi.com/todays-india-news/chief-minister-bhupesh-baghel-expressed-deep-grief-over-the-death-of-former-mla-gulab-singh/

sourec by DB

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %
Next Post

छत्तीसगढ़ में ड्राइविंग लाइसेंस के लिए नहीं लगाने पड़ेंगे अस्पतालों के चक्कर अब ऑनलाइन मिलेगा मेडिकल सर्टिफिकेट, पोर्टल शुरू

रायपुर : छत्तीसगढ़ में ड्राइविंग लाइसेंस के लिए मेडिकल सर्टिफिकेट लेने अस्पतालों के चक्कर नहीं लगाने पड़ेंगे। अब यह ऑनलाइन मिलेगा। इसके लिए परिवहन विभाग ने एक पोर्टल शुरू किया है। बुधवार को परिवहन मंत्री मोहम्मद अकबर ने इसे लांच करते हुए कहा कि देश में पहली बार यह सुविधा […]