मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने सम्बलपुरी में नये शहरी गौठान का किया शुभारंभ

vedantbhoomidigital
0 0
Read Time:4 Minute, 14 Second
  • अपने हाथों गौमाता को चारा खिलाया
  • महिला समूहों, गौमाता मित्र समिति और सफाई मित्र महिलाओं से चर्चा की
  • गौठानों में आजीविका के अन्य साधन विकसित करने कलेक्टर को निर्देश

रायपुर : मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आज रायगढ़ प्रवास के दौरान जिला मुख्यालय से लगे सम्बलपुरी में नगर निगम द्वारा निर्मित नये शहरी गौठान का शुभारंभ किया। उन्होंने गौठान में मवेशियों के लिए उपलब्ध चारा-पानी और सुरक्षा प्रबंध का मुआयना किया। मुख्यमंत्री ने गौठान में महिला स्व-सहायता समूहों द्वारा गोबर से निर्मित विभिन्न उत्पादों की जानकारी ली। उन्होंने गोबर से निर्मित गौकास्ट बनाने की विधि के बारे में जानकारी ली और इसकी प्रशंसा की।

मुख्यमंत्री बघेल ने गौमाता और बछड़े को अपने हाथों से चारा खिलाया और आशीर्वाद लिया। इस अवसर पर कृषि मंत्री एवं जिले के प्रभारी मंत्री रविन्द्र चौबे, उच्च शिक्षा मंत्री उमेश पटेल सहित धरमजयगढ़ विधायक लालजीत सिंह राठिया, लैलूगा विधायक चक्रधर सिंह सिदार, रायगढ़ विधायक प्रकाश नायक, सारंगढ़ विधायक उत्तरी जांगड़े, जिला पंचायत अध्यक्ष निराकार पटेल सहित जनप्रतिनिधि, किसान एवं पशुपालक उपस्थित थे।

मुख्यमंत्री बघेल ने गौठान परिसर में महिला समूहों द्वारा सजाए गये मण्डपों का भी अवलोकन किया। उन्होंने उपस्थित महिलाओं से चर्चा की और उनके अनुरोध पर गौठान में आजीविका के अन्य साधन उपलब्ध कराने के निर्देश कलेक्टर को दिए। लगभग 45 लाख रूपये की लागत से बने इस गौठान में चारा, पानी, शेड, उपचार सहित मवेशियों के संरक्षण की उत्तम व्यवस्था है। गौठान का कुल क्षेत्रफल 19 एकड़ है। इसमें से दो एकड़ में चारा के लिए नेपियर घास लगाई गई है। इसकी सुरक्षा के लिए 1600 मीटर क्षेत्र में मजबूत फेंसिंग की गई है। गौठान में लगभग 550 मवेशियों को रखा गया है। गौठान में गोबर खरीदी भी की जा रही है, जिससे वर्मी कम्पोस्ट खाद तैयार की जाएगी।

गौठान परिसर में नारी सशक्तिकरण स्व-सहायता समूह की महिलाओं ने मुख्यमंत्री को कीटनाशक मटका खाद के बारे में बताते हुए कहा कि यह खाद साग-सब्जी का पैदावार बढ़ाने में बेहद उपयोगी है। महिलाओं द्वारा गौठान में गोबर से बने धूप, कपूर, अगरबत्ती के साथ ही शुद्ध दूध, दही, छाछ एवं दूध से बने छेने रसगुल्ले की जानकारी दी। इसी तरह नगर पालिक निगम से संबद्ध मणिकंचन केन्द्र की स्वच्छता दीदियों ने गोधन न्याय योजना के तहत गोबर से तैयार किये गये विभिन्न देवी-देवताओं की मूर्ति, गोबर की लकड़ी, दिये और वर्मी कम्पोस्ट खाद के पैकेट की जानकारी से मुख्यमंत्री को अवगत कराया। इस अवसर पर जिला कलेक्टर भीम सिंह, एसपी संतोष सिंह, नगर निगम आयुक्त  आशुतोष पाण्डेय, एडीएम राजेन्द्र कटारा सहित स्थानीय जनप्रतिनिधि एवं गणमान्य नागरिक उपस्थित थे।

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %
Next Post

मुख्यमंत्री बघेल बिलासपुर जिले को करीब साढ़े 600 करोड़ रूपये से अधिक के विकास कार्यों की देंगे सौगात

रायपुर : मुख्यमंत्री भूपेश बघेल 3 एवं 4 जनवरी को बिलासपुर जिले के प्रवास के दौरान जिलेवासियों को करीब साढ़े 600 करोड़ रूपये से अधिक के विकास कार्यों की सौगात देंगे। इस दौरान मुख्यमंत्री नवनिर्मित सेंट्रल लायब्रेरी, स्मार्ट सड़क, न्यू सर्किट हाउस, आत्मानंद उत्कृष्ट अंग्रेजी माध्यम स्कूलों सहित 99.84 करोड़ […]