नांदेड़. कांग्रेस के वरिष्ठ नेता जयराम रमेश ने बुधवार को कहा कि उनकी पार्टी एकता में भरोसा करती है, वहीं भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) एकरूपता में विश्वास करती है. उन्होंने यह भी कहा कि कांग्रेस की भारत जोड़ो यात्रा ‘मन की बात’ नहीं है बल्कि इसका उद्देश्य जनता की ंिचताओं को उजागर करना है.

कांग्रेस की भारत जोड़ो यात्रा के दौरान महाराष्ट्र के नांदेड़ जिले में संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए रमेश ने कहा कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ और भाजपा ‘अनेकता में एकता’ में भरोसा नहीं करते जिसकी कि भारत मिसाल रहा है. रमेश ने दावा किया कि कांग्रेस के आलोचक भी यात्रा में भाग ले रहे हैं क्योंकि यही पार्टी है जो सत्तारूढ़ भाजपा का सामना कर सकती है.

उन्होंने कहा, ‘‘यह तो समय बताएगा कि कांग्रेस की चुनावी संभावनाओं पर यात्रा का क्या असर होगा लेकिन इसने पार्टी संगठन में नयी ऊर्जा भर दी है.’’ रमेश ने यह भी कहा कि भारत जोड़ो यात्रा जनता और वरिष्ठ कांग्रेस नेता राहुल गांधी के बीच सीधे संवाद का माध्यम है क्योंकि लोग वास्तविक राहुल गांधी को देख पाते हैं जो वैसे नहीं हैं जैसी छवि भाजपा उनकी पेश करती है.

उन्होंने कहा, ‘‘कांग्रेस एकता पर भरोसा करती है, वहीं भाजपा एकरूपता में विश्वास करती है.’’ कांग्रेस नेता ने कहा, ‘‘यह जनसंपर्क का कार्यक्रम है जो हमारे दफ्तरों में बैठे होने के कारण टूट गया था और हम अब दफ्तर में नहीं बैठे हैं और फिर से संपर्क बना रहे हैं.’’ उन्होंने दावा किया कि केरल के वायनाड से लोकसभा सदस्य राहुल को संसद में बोलने नहीं दिया जाता.

रमेश ने कहा, ‘‘जब वह (राहुल) बोलते हैं तो उन्हें शोर मचाकर बैठाने की कोशिश की जाती है. लोकसभा अध्यक्ष उन्हें समय नहीं देते. वह रक्षा पर स्थायी समिति के सदस्य हैं लेकिन उन्हें चीन पर प्रश्न नहीं पूछने दिये जाते.’’ कांग्रेस नेता ने कहा कि उनकी यात्रा ‘मन की बात’ नहीं है, बल्कि यह देश के सामने आ रहीं समस्याओं को लेकर ‘जनता की ंिचता’ को उजागर करती है.

उन्होंने कहा, ‘‘प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के इरादों और नीतियों के कारण देश टूट रहा है. आर्थिक असमानता बढ़ रही है, जिसके कारण महंगाई और बेरोजगारी सामने आ रही हैं. राजनीतिक और चुनावी हित के लिए भाजपा सामाजिक ध्रुवीकरण करती है.’’ रमेश ने दावा किया कि ‘राजनीतिक तानाशाही’ बढ़ रही है और सारे अधिकार एवं शक्तियां प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) में निहित हैं.
उन्होंने कहा कि वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) और नोटबंदी ने देश की अर्थव्यवस्था को तबाह कर दिया है.

उन्होंने कहा कि 3,570 किलोमीटर लंबी भारत जोड़ो यात्रा बृहस्पतिवार शाम तक आधी दूरी तय कर लेगी. रमेश ने कहा कि महाराष्ट्र ने यात्रा को नयी ऊर्जा दी है और यह बुधवार को 24 किलोमीटर की दूरी तय करेगी जो रोजाना सामान्य रूप से 22 किलोमीटर चल रही है.
रमेश ने कहा, ‘‘यात्रा जनवरी 2023 के आखिर में या फरवरी की शुरुआत में समाप्त होगी. यात्रा में कोई अवरोध नहीं आ सकता. हमारे सोशल मीडिया हैंडल को बंद करने का प्रयास किया गया था लेकिन कर्नाटक उच्च न्यायालय से हमें राहत मिली.’’ कर्नाटक की एक विशेष अदालत ने सोमवार को माइक्रोब्लॉंिगग साइट ट्विटर को भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस (आईएनसी) और इसकी ‘भारत जोड़ो यात्रा’ के ‘हैंडल’ को सुनवाई की अगली तारीख तक ‘‘ब्लॉक’’ करने का निर्देश दिया था.

उल्लेख किये गये ट्विटर हैंडल ‘आईएनसी इंडिया’ और ‘भारत जोड़ो’ हैं. अदालत ने विपक्षी पार्टी द्वारा पोस्ट किये गये तीन ट्वीट हटाने का भी आदेश दिया. अदालत का आदेश एमआरटी म्यूजिक द्वारा एक वाद दायर किये जाने के बाद आया है, जो ‘केजीएफ चैप्टर 2’ फिल्म के ‘साउंड ट्रैक’ का कॉपीराइट धारक है.

बाद में कर्नाटक उच्च न्यायालय की खंडपीठ ने निचली अदालत के फैसले को रद्द कर दिया. रमेश ने कहा कि कांग्रेस अब आक्रामक तरीके से एजेंडा और विमर्श तय कर रही है. उन्होंने कहा, ‘‘पहले हम केवल प्रतिक्रिया देते थे, लेकिन अब हम एक कदम आगे हैं.’’ कांग्रेस नेता ने कहा कि नांदेड़ कांग्रेस की यात्रा में आया 27वां जिला है.

उन्होंने बताया कि राहुल गांधी 17 नवंबर को दोपहर 1 बजे बुलढाना जिले के शेगांव में एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करेंगे. रमेश ने दावा किया कि यह यात्रा के दौरान राहुल गांधी का मीडिया से छठी बार संवाद होगा जबकि आठ साल से सत्ता में बैठे प्रधानमंत्री ने एक भी बार मीडिया का सामना नहीं किया है.

उन्होंने कहा, ‘‘भाजपा और आरएसएस में ऐसे लोग हैं जो मानते हैं कि मोदी सरकार से देश को खतरा है. उनका भी स्वागत है वे हमारे साथ आएं.’’ कांग्रेस और शिवसेना की अलग-अलग विचारधाराओं के सवाल पर कांग्रेस नेता ने कहा, ‘‘आलोचकों ने समझ लिया है कि कांग्रेस ही एकमात्र पार्टी है जो भाजपा को हरा सकती है. शिवसेना भी जानती है कि भाजपा बड़ा खतरा है तथा लोकतंत्र और संविधान को बचाने की जरूरत है.’’ उन्होंने कहा कि यात्रा में 15 नवंबर को एक आदिवासी सम्मेलन के माध्यम से स्वतंत्रता सेनानी बिरसा मुंडा की जयंती मनाई जाएगी. कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अशोक चव्हाण ने कहा कि बृहस्पतिवार को यात्रा में राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के जयंत पाटिल, सुप्रिया सुले और जितेंद्र अव्हाड शामिल होंगे, वहीं शिवसेना नेता आदित्य ठाकरे 11 नवंबर को शामिल होंगे.

youtube channel thesuccessmotivationalquotes