समाजसेवी बाबा आमटे की पोती डॉ. शीतल आमटे ने की आत्महत्या, ये वजह से की ख़ुदकुशी

मुंबई । विख्यात समाज सेवा बाबा आमटे की पोती ने आत्महत्या कर ली है। स्थानीय पुलिस के मुताबिक बाबा आमटे की पोती और आनंदवन के महारोगी सेवा समिति की CEO डॉक्टर शीतल आमटे ने सोमवार को आत्महत्या कर ली है। अभी आत्महत्या के कारण का पता नहीं चला है। पुलिस जांच में जुटी हुई है। महारोगी सेवा समिति से जुड़े हुए लोगों का कहना है कि शीतल आमटे बीते कुछ दिनों से काफी परेशाना थी। पारिवारिक मामलों को लेकर शीतल आमटे ने आत्महत्या कर ली है।
घर में मृत मिली
पुलिस के मुताबिक शीतल आमटे अपने घर में अचेत अवस्था में मिली। उन्हें वरोरा के उपजिला अस्पताल में इलाज के लिए ले जाया गया, लेकिन डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। पुलिस ने बताया कि शीतल आमटे के शरीर के पास से जहरीले इंजेक्शन बरामद हुए हैं। ऐसे में आशंका है कि उन्होंने खुद को जहरीला इंजेक्शन लगाकर आत्महत्या की है। डॉक्टर शीतल आमटे को जनवरी 2016 में विश्व आर्थिक मंच द्वारा ‘यंग ग्लोबल लीडर 2016’ के रूप में चुना गया था।
गौरतलब है कि डॉ॰ मुरलीधर देवीदास आमटे, जिन्हें बाबा आमटे के नाम से जाना जाता था। शीतल आमटे उन्हीं की पोती थी। बाबा आमटे ने परित्यक्त लोगों और कुष्ठ रोगियों के लिए अनेक आश्रमों और समुदायों की स्थापना की। बाबा आमटे ने अनेक सामाजिक कार्यों जैसे वन्य जीवन संरक्षण तथा नर्मदा बचाओ आंदोलन में प्रमुख योगदान दिया था। 9 फरवरी 2008 को बाबा आमटे का 94 साल की उम्र में चन्द्रपुर जिले के वड़ोरा स्थित अपने निवास में निधन हो गया था।