पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान के वाहन पर हमला, उनके पैर में गोली लगी

5

इस्लामाबाद. पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान के विरोध मार्च के दौरान बृहस्पतिवार को पंजाब प्रांत में उनके कंटेनर-ट्रक पर हमला किया गया जिसमें उनके पैर में गोली लगी है, लेकिन वह खतरे से बाहर हैं. मीडिया की खबरों में यह जानकारी दी गई है.
खान की पार्टी ने दावा किया कि यह ‘‘हत्या का प्रयास’’ था. पंजाब के वजीराबाद कस्बे के अल्लाहवाला चौक के पास यह घटना उस समय हुई जब खान जल्दी चुनाव कराने की अपनी मांग को लेकर इस्लामाबाद तक मार्च का नेतृत्व कर रहे थे.

खान की पार्टी के वरिष्ठ नेता असद उमर ने मीडिया को बताया कि पूर्व प्रधानमंत्री के पैर में एक गोली लगी है. उमर ने कहा, \”खान को सड़क मार्ग से लाहौर ले जाया जा रहा है. उनकी हालत गंभीर नहीं है, लेकिन उन्हें गोली लगी है.\” उन्होंने कहा कि खान के प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान को बदलते हुए नहीं देख सकते हैं. उन्होंने हमले के लिए किसी को जिम्मेदार नहीं ठहराया. चेहरे पर गोली लगने से घायल हुए सीनेटर फैसल जावेद ने कहा कि हमले के दौरान पार्टी का एक कार्यकर्ता मारा गया जबकि एक अन्य गंभीर रूप से घायल है. क्रिकेट की दुनिया से राजनीति में आए खान (70) पर हमले की जिम्मेदारी किसी समूह ने नहीं ली है.

प्रत्यक्षर्दिशयों के अनुसार, एक बंदूकधारी ने खान के वाहन पर गोलियां चलाईं. उन्होंने कहा कि घटनास्थल से एक व्यक्ति को मौके से गिरफ्तार किया गया है और पुलिस उसे किसी अज्ञात स्थान पर ले गई है. खान की पार्टी पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) ने एक ट्वीट में कहा, \”इमरान खान के पैर में गोली लगी है और अस्पताल ले जाने के दौरान उनकी हालत स्थिर थी. उन्होंने समर्थकों को देखकर हाथ भी हिलाया.\” जियो टीवी के अनुसार हमलावर की पहचान नावेद के रूप में हुई है. चैनल ने कहा कि करीब 20 साल के हमलावर ने सलवार-कमीज पहन रखी थी और खान की गाड़ी के साथ चल रहा था और उसने बाईं ओर से गोलीबारी की.

पुलिस द्वारा पकड़े गए संदिग्ध ने कहा कि वह खान को मारना चाहता था क्योंकि \”वह जनता को गुमराह कर रहे हैं.’’ डॉन अखबार ने एक वीडियो बयान का हवाला दिया जिसमें संदिग्ध ने कहा, \”वह (खान) लोगों को गुमराह कर रहे थे और मैं इसे नहीं देख सकता था इसलिए मैंने उनकी जान लेने की कोशिश की.\” पीटीआई नेता इमरान इस्माइल ने कहा कि जब पूर्व प्रधानमंत्री पर हमला हुआ, उस समय वह खान के साथ खड़े थे. उन्होंने दावा किया, ‘‘यह सीधी हमला था… गोली जान लेने के लिए थी, न कि डराने के लिए.’’ एआरवाई न्यूज के अनुसार खान की हालत खतरे से बाहर है. एआरवाई न्यूज को खान की पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ पार्टी का मुखपत्र माना जाता है.

प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ ने खान पर हमले की ंिनदा की और गृह मंत्री को घटना के संबंध में तत्काल रिपोर्ट देने का निर्देश दिया.
शरीफ ने ट्वीट किया, \”मैं पीटीआई अध्यक्ष और अन्य घायल लोगों के स्वस्थ होने की दुआ करता हूं. संघीय सरकार सुरक्षा और जांच के लिए पंजाब सरकार को हर संभव सहायता देगी. हमारे देश की राजनीति में ंिहसा के लिए कोई जगह नहीं होनी चाहिए.\” सूचना मंत्री मरियम औरंगजेब ने ट्वीट किया कि प्रधानमंत्री शरीफ ने अपनी हालिया चीन यात्रा को लेकर आयोजित एक संवाददाता सम्मेलन को इस घटना के बाद स्थगित कर दिया.

राष्ट्रपति आरिफ अल्वी ने खान पर हमले को \”जघन्य हत्या का प्रयास\” बताया. उन्होंने ट्वीट किया, \”मैं अल्लाह का शुक्रिया अदा करता हूं कि वह सुरक्षित हैं लेकिन उनके पैर में गोलियां लगी हैं, उम्मीद है कि वह गंभीर नहीं होगा.’’ विदेश मंत्री और पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी के अध्यक्ष बिलावल भुट्टो जरदारी ने खान पर हमले की \”कड़ी ंिनदा\” करते हुए उनके शीघ्र स्वस्थ होने की कामना की.
शुरु में बताया गया था कि खान सुरक्षित हैं जबकि कुछ लोग घायल हुए हैं. हालांकि, बाद में पता चला कि खान भी घायल हैं और उनके पैर में गोली लगी है.

इमरान की हत्या करना चाहता था क्योंकि वह जनता को गुमराह कर रहे थे : संदिग्ध
पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में एक राजनीतिक मार्च के दौरान बृहस्पतिवार को पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान पर हमला करने वाले व्यक्ति ने कहा कि उसने खान की हत्या करने की कोशिश की क्योंकि \”वह जनता को गुमराह कर रहे थे.\” खान (70) उस समय घायल हो गए जब मार्च के दौरान उनके कंटेनर-ट्रक पर हमला किया गया. उनके पैर में गोली लगी है, लेकिन वह खतरे से बाहर हैं. पंजाब के वजीराबाद कस्बे के अल्लाहवाला चौक के पास यह घटना उस समय हुई जब खान जल्दी चुनाव कराने की अपनी मांग को लेकर इस्लामाबाद तक मार्च का नेतृत्व कर रहे थे.

हमलावर को खान की पार्टी पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) के कार्यकर्ताओं और सुरक्षा र्किमयों ने तुरंत पकड़ लिया.
हमलावर की स्वीकारोक्ति की एक क्लिप स्थानीय मीडिया में प्रसारित की गई. संदिग्ध ने एक वीडियो में कहा, \’वह (इमरान) लोगों को गुमराह कर रहे थे और मैं यह नहीं देख सकता था. इसलिए मैंने उन्हें मारने का प्रयास किया.

उसने कहा, \”मैंने खान को मारने की पूरी कोशिश की. मैं उन्हें (खान) ही मारना चाहता था और किसी को नहीं.\” बंदूकधारी ने कहा कि वह किसी राजनीतिक, धार्मिक या आतंकी संगठन से नहीं जुड़ा है. उन्होंने कहा कि 28 अक्टूबर को मेगा रैली की घोषणा के बाद उसके मन में पीटीआई प्रमुख की हत्या का विचार आया.

उसने कहा, ‘‘मैंने आज उन्हें मारने का फैसला किया. यह विचार मुझे तब आया जब खान ने अपना मार्च शुरू किया. मैं अकेला हूं और मेरे साथ कोई नहीं है. मैं अपनी मोटरसाइकिल पर आया और अपने चाचा की दुकान में उसे खड़ी कर दी.\” खान की पार्टी के वरिष्ठ नेता असद उमर ने मीडिया को बताया कि पूर्व प्रधानमंत्री के पैर में एक गोली लगी है. उमर ने कहा, \”खान को सड़क मार्ग से लाहौर ले जाया जा रहा है. उनकी हालत गंभीर नहीं है, लेकिन उन्हें गोली लगी है.\”