गुजरात चुनाव : भाजपा को फिर से ‘कमल’ खिलने की उम्मीद, कांग्रेस इस बार जीत के लिए आश्वस्त

7

अहमदाबाद. गुजरात में सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने बृहस्पतिवार को कहा कि वह अगले महीने होने वाले विधानसभा चुनाव के बाद राज्य में एक बार फिर सत्ता बरकरार रखेगी, जबकि विपक्षी दल कांग्रेस ने विश्वास जताया कि वह इस बार सत्ता में वापसी करेगी.

वहीं, अरंिवद केजरीवाल के नेतृत्व वाली आम आदमी पार्टी (आप) ने लोगों से पार्टी को एक मौका देने का आग्रह किया और उम्मीद जताई कि सभी दल निष्पक्ष तरीके से चुनाव लड़ेंगे. निर्वाचन आयोग ने बृहस्पतिवार को घोषणा की कि 182 सदस्यीय गुजरात विधानसभा के चुनाव दो चरणों में एक और पांच दिसंबर को होंगे, जबकि मतगणना आठ दिसंबर को होगी.

गुजरात के मुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल ने कहा कि उनकी पार्टी राज्य में सत्ता बरकरार रखेगी. पटेल ने ट्वीट किया, ‘‘निर्वाचन आयोग ने गुजरात चुनाव की तारीखों की घोषणा कर दी है. नए मतदाता और राज्य के लोग भाजपा की विकास की राजनीति तथा दूरदर्शी नेतृत्व को आशीर्वाद देंगे. मुझे पूरा विश्वास है कि गुजरात में एक बार फिर कमल खिलेगा.’’ कमल भाजपा का चुनाव चिह्न है. वर्ष 2017 के विधानसभा चुनावों में भाजपा ने 99 सीट जीतकर लगातार छठी बार सत्ता हासिल की थी, जबकि कांग्रेस ने 77 सीट पर जीत हासिल की थी.

कांग्रेस प्रवक्ता आलोक शर्मा ने कहा, ‘‘गुजरात में मुकाबला फासीवादी भाजपा और महात्मा गांधी तथा सरदार पटेल की विचारधारा के बीच है. कांग्रेस राज्य में सत्ता में वापसी करेगी. आप गुजरात में अपना खाता नहीं खोल पाएगी.’’ आप के प्रदेश महासचिव मनोज सोरठिया ने चुनाव कार्यक्रम की घोषणा का स्वागत किया. उन्होंने कहा, ‘‘राज्य के लोगों को अगले पांच साल के लिए सरकार चुनने का मौका मिलेगा. मैं लोगों से आप को एक मौका देने का अनुरोध करूंगा. मुझे उम्मीद है कि सभी दल निष्पक्ष तरीके से चुनाव लड़ेंगे.’’ एक अधिकारी ने कहा कि राज्य प्रशासन चुनाव को सुचारू रूप से संपन्न कराने के लिए कदम उठा रहा है. उन्होंने कहा कि चुनाव कार्यक्रम की घोषणा के बाद राज्य से सरकारी विज्ञापनों के पोस्टर और होर्डिंग हटाए जा रहे हैं.

गुजरात की कुल 182 विधानसभा सीट में से 89 सीट पर एक दिसंबर को और बाकी 93 सीट पर 5 दिसंबर को मतदान होगा. पहले और दूसरे चरण के लिए क्रमश: पांच नवंबर और 10 नवंबर को विधानसभा चुनाव की अधिसूचना जारी की जाएगी. पहले और दूसरे चरण के लिए नामांकन दाखिल करने की आखिरी तारीख क्रमश: 14 नवंबर और 17 नवंबर होगी. वहीं, 15 नवंबर और 18 नवंबर को नामांकन पत्रों की जांच की जाएगी. नामांकन वापस लेने की अंतिम तारीख क्रमश: 17 नवंबर (पहला चरण) और 21 नवंबर (दूसरा चरण) रखी गई है. इन चुनावों के साथ 2023 में कुछ अन्य राज्यों के चुनावों को 2024 के लोकसभा चुनावों की दृष्टि से महत्वपूर्ण माना जा रहा है.