गुजरात विस चुनाव: भाजपा की पहली सूची में भूपेंद्र पटेल, हार्दिक, जड़ेजा की पत्नी के नाम

3

नयी दिल्ली: भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने 182 सदस्यीय गुजरात विधानसभा के दो चरणों में होने वाले चुनाव के लिए 160 उम्मीदवारों की अपनी पहली सूची बृहस्पतिवार को जारी की। मुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल को उनके निर्वाचन क्षेत्र घाटलोढ़िया से उम्मीदवार बनाया गया है तथा कई मौजूदा विधायकों के टिकट काटे गए हैं।

पिछले विधानसभा चुनावों में पाटीदार आंदोलन का चेहरा रहे हार्दिक पटेल और क्रिकेटर रवींद्र जडेजा की पत्नी रिवाबा जडेजा के नाम भी सूची में शामिल हैं। हार्दिक पटेल बाद में कांग्रेस छोड़कर भाजपा में शामिल हो गए। हार्दिक पटेल विरमगाम से तथा रिवाबा जडेजा जामनगर उत्तर से चुनाव लड़ेंगे।

केंद्रीय मंत्री भूपेंद्र यादव ने सूची जारी करते हुए कहा कि भाजपा ने 38 मौजूदा विधायकों को टिकट नहीं दी है। उन्होंने दावा किया कि ज्यादातर सीटों पर मौजूदा विधायकों की सहमति से ही अन्य उम्मीदवार उतारा गया है। पार्टी ने एक दिसंबर को पहले चरण में 89 सीटों पर होने वाले चुनाव के लिए 84 उम्मीदवारों के नाम घोषित किए हैं तथा पांच दिसंबर को दूसरे चरण के चुनाव के लिए 93 सीटों में से 76 पर उम्मीदवारों की घोषणा की है।

भाजपा की गुजरात इकाई के अध्यक्ष सी आर पाटिल के साथ केंद्रीय मंत्री भूपेंद्र यादव तथा मनसुख मांडविया ने यहां एक संवाददाता सम्मेलन में प्रत्याशियों की सूची जारी की। यादव ने बुधवार को पार्टी की केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक में चयनित उम्मीदवारों के नाम जारी किए।

यादव ने कहा कि सूची में 69 मौजूदा विधायक शामिल हैं। यह दिखाता है कि कई मौजूदा विधायकों को इस बार टिकट नहीं दिया गया है। इस सूची में 14 महिलाएं, अनुसूचित जाति के 13 तथा अनुसूचित जनजाति के 24 उम्मीदवार शामिल हैं। यादव ने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री विजय रुपाणी तथा पूर्व उपमुख्यमंत्री नितिन पटेल समेत राज्य के कई वरिष्ठ नेताओं ने चुनाव न लड़ने का फैसला किया है तथा इस संबंध में पार्टी नेतृत्व को पत्र लिखा था।

पाटिल ने विश्वास जताया कि भाजपा इन चुनावों में सीटों की संख्या तथा मत प्रतिशत के अपने पहले का रिकॉर्ड तोड़ेगी। उम्मीदवारों के नाम तय करने के लिए हुई बैठक में पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जे पी नड्डा के अलावा प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और अमित शाह तथा राजनाथ ंिसह समेत केंद्रीय चुनाव समिति के अन्य सदस्य मौजूद रहे। भाजपा को 1995 से राज्य विधानसभा चुनाव में अपनी जीत की लय बरकरार रखने की उम्मीद है।