मोदी के साथ मित्रवत संबंध हैं, फिर भी भाजपा को प्रतिद्वंद्वी ही मानेंगे: पटनायक

5

भुवनेश्वर.ओडिशा के मुख्यमंत्री एवं राज्य में सत्तारूढ़ बीजू जनता दल (बीजद) के अध्यक्ष नवीन पटनायक ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ उनके \’मित्रवत\’ संबंध हैं, लेकिन उनकी पार्टी भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) को राज्य में अपना मुख्य प्रतिद्वंद्वी मानती है.

पटनायक ने यह भी स्वीकार किया कि ओडिशा को विकासपरक कार्यों के लिए केंद्र से अब ‘‘अच्छा सहयोग’’ मिल रहा है. मुख्यमंत्री ने यह बात रविवार को यहां ‘द न्यू इंडियन एक्सप्रेस’ द्वारा आयोजित ओडिशा साहित्य महोत्सव (ओएलएफ) में एक संवाद कार्यक्रम के दौरान कही.

यह पूछे जाने पर कि क्या उनके मोदी के साथ अच्छे संबंध हैं, पटनायक ने कहा, ‘‘हां, यह मित्रवत है.’’ यह पूछे जाने पर कि क्या देश का संघीय ढांचा खतरे में है, पटनायक ने कहा, ‘‘जहां तक ??मेरा और मेरी सरकार का सवाल है, केंद्र के साथ हमारे संबंध रचनात्मक हैं. हमारा सरोकार सिर्फ अपने राज्य के विकास और कल्याण से है तथा केंद्र इसमें हमारा सहयोग करता है.’’

पटनायक का यह बयान राजनीतिक रूप से महत्वपूर्ण है क्योंकि कुछ क्षेत्रीय दल और कांग्रेस शासित राज्यों के मुख्यमंत्रियों ने केंद्र के खिलाफ आवाज उठायी है तथा नरेंद्र मोदी सरकार पर गैर-भाजपा राज्यों के साथ व्यवहार में संघीय मानदंडों का उल्लंघन करने का आरोप लगाया है. यहां तक ??कि पटनायक भी पूर्ववर्ती संप्रग सरकार के दौरान इस तरह के आरोप लगा चुके हैं. बीजद, 2019 तक, कांग्रेस के नेतृत्व वाले संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (संप्रग) और भाजपा के नेतृत्व वाले राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) से \”समान दूरी\” बनाए रखने का दावा करती थी.

हालांकि, राजग के साथ बीजद का समीकरण उस वक्त स्पष्ट रूप से बदल गया, जब पटनायक ने 2020 में राज्यसभा चुनाव में भाजपा उम्मीदवार अश्विनी वैष्णव का समर्थन किया. इसके चलते, विपक्षी कांग्रेस ने बीजद और भाजपा को \”एक ही सिक्के के दो पहलू\” करार दिया था.

धामनगर विधानसभा क्षेत्र में उपचुनाव के नतीजों पर पटनायक ने कहा कि वह लोगों के फैसले का सम्मान करते हैं. धामनगर उपचुनाव में भाजपा के सूर्यवंशी सूरज ने बीजद के अबंती दास को 9,881 मतों के अंतर से हरा दिया. उन्होंने कहा, ‘‘धामनगर के विधायक का हाल ही में निधन हो गया था. वह बहुत लोकप्रिय थे. उनके बेटे को टिकट दिया गया. इस सीट पर भाजपा का कई सालों से कब्जा था. इसलिए उम्मीद की जा रही थी कि वही जीतेगी.’’

बीजद अध्यक्ष ने कहा कि हालांकि, हाल के पंचायत और शहरी चुनावों में, सत्तारूढ़ दल ने बहुत अच्छा प्रदर्शन किया था. पटनायक ने कहा कि 2024 में होने वाले लोकसभा और विधानसभा चुनावों में, भाजपा बीजद की मुख्य राजनीतिक प्रतिद्वंद्वी होगी क्योंकि राज्य में कांग्रेस कमजोर हो गई है.