आयकर अफ़सरों को 33 ठिकानों से 1.50 करोड़ कैश सीज किया…

7

रायपुर: आयकर टीमों की रायगढ़, सक्ती, बिलासपुर के 33 ठिकानों में छापेमारी 60 घंटे से अधिक समय से तीसरे दिन भी जारी है। हालांकि अधिकांश ठिकानों से टीमें लौटने लगीं हैं। जानकारी के मुताबिक कुछ माह पूर्व हुए सर्वे के बाद से एन आर समूह के डायरेक्टर्स बेखौफ होकर निवेश और खर्च करने लगे थे। इसी दौरान अग्रवाल बंधुओं ने फैक्ट्री विस्तार और स्थापना के लिए 5400 करोड़ का एम ओ यू किया।

अफसर अब तक जब्त कागजातों और लूज पेपर्स के हवाले से पूछताछ कर रहे हैं। उधर सक्ती के श्याम सुंदर अग्रवाल, अरूण अग्रवाल, आनंद अग्रवाल से भी पूछताछ के लिए उनका इंतजार कर है। सूत्रों ने बताया कि पहले दिन अफसरों के पहुंचने की खबर लगते ही ये लोग घर नहीं लौटे हैं। इनकी वापसी के लिए पत्नी और बच्चों से काल करवाया जा रहा है। सक्ती के इन अग्रवाल बंधुओं का पेट्रोल का बड़ा कारोबार है। इनके 17 पेट्रोल पंप हैं।

टीम एन आर इस्पात रायगढ़ के डायरेक्टर संजय अग्रवाल के रायगढ़, ला विस्टा रायपुर में रहने वाले रामगोपाल अग्रवाल और सक्ती के श्याम सुंदर अग्रवाल के घरों और दफ्तरों में जांच कर रही है।। इनके अलावा बिलासपुर के रियल स्टेट कारोबारी बजरंग-महावीर अग्रवाल, रायगढ़ गजानंद नगर के ही कोयला कारोबारी राकेश शर्मा के यहां भी कार्रवाई चल रही है।

उधर बिलासपुर ईदगाहभाटा निवासी बजरंग, महावीर अग्रवाल के यहां भी जांच चल रही है। इनका रियल स्टेट, तेंदूपत्ता, और राईस मिलिंग का कारोबार है। बहरहाल सभी टीमें जांच पड़ताल में जुटी हुई है। इन कारोबारियों के साथ उनके चार्टर्ड अकाउंटेंट के यहां भी जांच और पूछताछ हो रही है। बीते तीन से पांच वर्षों के आईटी रिटर्न, कच्चे और उत्पादित माल का वेरिफिकेशन, खरीदी -बिक्री , वेतन -भत्तों और ज्वेलरी, शेयरों में इन्वेस्टमेंट, लॉकर्स आदि को भी खंगाला। अब तक की पड़ताल में आयकर अफ़सरों को सभी ठिकानों से बड़ी तादाद में ज्वेलरी मिली है जिसका वैल्युएशन कराया जा रहा है। वहीं इन ठिकानों से 1.50 करोड़ कैश सीज किया गया है। इन कारोबारियों के आधा दर्जन बैंक लॉकर मिले हैं।

youtube channel thesuccessmotivationalquotes