भारत जल्द ही ‘विश्व गुरु’ बन जाएगा और यही एक सच्चा ‘राम राज्य’ होगा : गडकरी

5

पटना. केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने 21वीं सदी को भारत का बताते हुए सोमवार को कहा कि भगवान राम के आदर्श और मूल्य देश को नई ऊंचाइयों पर ले जाएंगे. गडकरी ने सोमवार को बक्सर जिले के अहिरौली गांव में संतों के एक अंतरराष्ट्रीय धर्म सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा, ‘‘भारत जल्द ही ‘विश्व गुरु’ बन जाएगा और यह एक सच्चा ‘राम राज्य’ होगा. भगवान राम के आदर्श और मूल्य भारत को नई ऊंचाइयों पर ले जाएंगे. 21वीं सदी भारत की है. हमारा समाज भगवान राम के इर्द-गिर्द घूमने वाली मजबूत मूल्य प्रणाली को महसूस करता है.’’ यह कार्यक्रम नौ दिनों तक चलने वाले धार्मिक सम्मेलन ‘‘राम कर्मभूमि तीर्थ क्षेत्र महाकुंभ’’ के हिस्से के रूप में आयोजित किया गया था.

गडकरी ने कहा, ‘‘भगवान राम का पूरा जीवन अपने आप में एक शिक्षा है. भगवान राम किसी को पीछे नहीं छोड़ते, किसी से मुंह नहीं मोड़ते. सच्चे अर्थों में विकास तभी होता है जब प्रत्येक वर्ग का विकास हो. स्वामी विवेकानंद के शब्दों में, भगवान राम ‘‘सत्य, नैतिकता के आदर्श पुत्र और सबसे बढ़कर ‘‘आदर्श राजा’’ हैं.

केंद्रीय मंत्री ने कहा, ‘‘यह बताता है कि कैसे एक आदमी को अपनी सीमाओं का सख्ती से पालन करना चाहिए ताकि सामाजिक व्यवस्था को बनाए रखा जा सके. इसलिए इन आदर्शों के आधार पर भारत विश्व गुरु बनेगा और ज्ञान तथा नवाचार के केंद्र के रूप में उभरेगा और यही सच्चा ‘राम राज्य’ होगा .’’ इससे पहले केंद्रीय मंत्री ने दिन में बक्सर में 3,390 करोड़ रुपये की दो राष्ट्रीय राजमार्ग परियोजनाओं का उद्घाटन किया.

उन्होंने कहा, ‘‘राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या 922 पर कोइलवर से भोजपुर 44 किमी फोर लेन (1,662 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित) और भोजपुर से बक्सर 48 किमी. फोर लेन (1,728 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित) से पूर्वांचल एक्सप्रेसवे के साथ क्षेत्र की कनेक्टिविटी में काफी वृद्धि होगी.’’ उन्होंने कहा कि इससे बिहार से लखनऊ होते हुए दिल्ली पहुंचना आसान हो जाएगा. दिल्ली पहुंचने में लगने वाला समय 15 घंटे से कम होकर 10 घंटे रह जाएगा. इससे पहले, गडकरी ने रोहतास में सोन नदी पर पण्डुका के पास 210 करोड़ रूपये की लागत वाले 1.5 किमी लंबे दो लेन के एलिवेटेड पुल का उद्घाटन किया.

इस मौके पर बिहार के उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव, भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष संजय जायसवाल, बिहार सरकार के अन्य मंत्री और सांसद, विधायक तथा अधिकारी मौजूद थे. केंद्रीय मंत्री ने कहा, ‘‘इस पुल के बनने से राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या 19 और 39 एक-दूसरे से जुड़ जाएगा जिससे बिहार, झारखंड, उत्तर प्रदेश और छत्तीसगढ़ के बीच यातायात सुगम होगा.’’ वर्तमान में रोहतास जिले के पण्डुका से श्रीनगर (झारखंड) तक पहुँचने के लिए 150 किमी की दूरी तय करनी पडती थी . अब इस पुल के बनने के बाद चार घंटे की बचत होगी. गडकरी ने कहा कि पण्डुका क्षेत्र में इस पुल के बनने से आसपास के क्षेत्रों और राज्यों के औद्योगिक एवं कृषि और डेयरी उत्पाद की बाजार तक पहुंच आसान होगी. इससे समय और ईंधन की भी बचत होगी.

youtube channel thesuccessmotivationalquotes