नयी दिल्ली: इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के नए चेयरमैन अरुण धूमल का मानना है यह टी20 टूर्नामेंट अगले पांच वर्षों में दुनिया की सबसे बड़ी लीग बन जाएगी और कहा कि महिला आईपीएल को लेकर बोर्ड की राय स्पष्ट है। धूमल ने पीटीआई से बातचीत में आईपीएल को लेकर लंबी अवधि की योजनाओं के बारे में बात की।

आईपीएल ने 2023-2027 चक्र के लिए 48,390 करोड़ रुपये में मीडिया अधिकार बेचे जिससे वह प्रति मैच के मूल्य के मामले में विश्व की दूसरी सबसे मूल्यवान खेल लीग बन गई है। आईपीएल में ढाई महीने में 10 टीम के बीच 94 मैचों का आयोजन करने की योजना है।

धूमल ने कहा कि नई योजनाओं के साथ आगे बढ़ना समय की मांग है और ऐसा कोई कारण नजर नहीं आता है जिससे कि आईपीएल दुनिया की सबसे बड़ी लीग न बन सके। धूमल से पूछा गया के आईपीएल को आगे बढ़ाने के लिए भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) की क्या योजनाएं हैं, उन्होंने कहा,‘‘ आईपीएल अभी जो है उससे कहीं बड़ा होगा और यह विश्व की नंबर एक खेल लीग बन जाएगा।’’ उन्होंने कहा,‘‘ हमारी इसमें निश्चित तौर पर नहीं चीजें जोड़ने की योजना है जिससे कि यह प्रशंसकों के अधिक अनुकूल बन सके। जो लोग इसे टीवी पर देखते है और जो स्टेडियम में आकर देखते हैं हम उन्हें बेहतर अनुभव देना चाहते हैं।’’ धूमल ने कहा,‘‘ अगर हम आईपीएल का कार्यक्रम काफी पहले तैयार कर देते हैं तो विश्व भर के प्रशंसक उसके अनुसार अपना यात्रा कार्यक्रम बना सकते हैं।’’

बीसीसीआई ने आईपीएल में दो नई टीमें जोड़कर 12000 करोड़ रुपए से अधिक की कमाई की लेकिन धूमल ने कहा कि इसमें अभी और टीमों को जोड़ने की संभावना नहीं है। उन्होंने कहा,‘‘ टीमों की संख्या 10 ही रहेगी। अगर इनकी संख्या बढ़ाई जाती है तो फिर एक साथ टूर्नामेंट का आयोजन करना मुश्किल हो जाएगा। हमने पहले दो सत्र में 74 मैच और फिर 84 मैच का आयोजन करने पर विचार कर रहे हैं और अगर चीजें अनुकूल रही तो पांचवें साल में 94 मैच आयोजित किए जा सकते हैं।’’

उन्होंने कहा,‘‘ हम खुद की तुलना फुटबॉल या विश्व की अन्य खेल लीग से नहीं कर सकते क्योंकि क्रिकेट की जरूरतें पूरी तरह से भिन्न हैं। आप एक ही तरह की पिच पर छह महीने तक नहीं खेल सकते हैं।’’ विश्व भर में जिस तरह से टी20 लीग शुरू हो रही हैं वैसे में बीसीसीआई पर अपने खिलाड़ियों को विदेशी लीग में खेलने की अनुमति देने का दबाव बढ़ रहा है। आईपीएल के मालिकों ने दक्षिण अफ्रीका की नई लीग की सभी छह टीम को खरीदा है और यह स्वाभाविक है कि वह इन टीमों में भारतीय खिलाड़ियों की उपस्थिति चाहते हैं।

लेकिन धूमल ने स्पष्ट किया कि बीसीसीआई का अपने खिलाड़ियों को विदेशी लीग में खेलने की अनुमति देने का कोई इरादा नहीं है।
उन्होंने कहा,‘‘सैद्धांतिक तौर पर बीसीसीआई का फैसला है कि हमारे अनुबंधित खिलाड़ी अन्य लीग में नहीं खेल सकते हैं। उनकी भलाई के लिए ही यह फैसला किया गया है और अभी हम इस पर कायम हैं। यहां तक कि गैर अनुबंधित खिलाड़ी भी भारत के लिए खेलने के इच्छुक हैं।’’

पहला महिला आईपीएल अगले साल मार्च में खेला जाएगा जिसमें पांच टीमें भाग लेंगी लेकिन अभी टीमों की बिक्री नहीं की गई है।
धूमल ने महिला आईपीएल के बारे में कहा,‘‘ हम इस तरह से महिला आईपीएल की योजना बना रहे हैं जिससे कि नए प्रशंसक इस खेल से जुड़ें। ’’

youtube channel thesuccessmotivationalquotes