कहीं मोदी के ‘आकर्षण’ के कारण तो नहीं टूटा गुजरात में पुल; कांग्रेस अध्यक्ष खरगे का तंज

6

बेंगलुरु. कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे ने रविवार को कटाक्ष किया कि कहीं ऐसा तो नहीं कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ‘आकर्षण’ के कारण गुजरात में मोरबी पुल टूट गया? अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी (एआईसीसी) अध्यक्ष बनने के बाद बेंगलुरु की अपनी पहली यात्रा पर आए खरगे (80) ने प्रधानमंत्री मोदी पर हिंदुओं और मुसलमानों के बीच संघर्ष, महिलाओं और दलितों पर अत्याचार, बढ़ती महंगाई, रुपये के गिरते स्तर के मुद्दे पर चुप रहने का आरोप लगाया.

खरगे ने कहा, ‘‘मोदी एक छोटी ट्रेन को हरी झंडी दिखाने सहित छोटी से छोटी घटना का भी श्रेय लेते हैं. वह गुजरात में मोरबी पुल के दो करोड़ रुपये के मरम्मत कार्य का श्रेय लेना चाहते थे. मुझे नहीं पता, कहीं उनका (मोदी का) ‘आकर्षण’ तो नहीं था कि पुल उद्घाटन के पांच दिनों के भीतर ही टूट गया जिसमें 138 लोगों की मौत हो गई.’’ नवनिर्वाचित कांग्रेस अध्यक्ष यहां अपने अभिनंदन समारोह ‘सर्वोदय समावेश’ में लोगों को संबोधित कर रहे थे. कर्नाटक से राज्यसभा सदस्य खरगे ने सवाल किया कि मोरबी पुल टूटने के लिए प्रधानमंत्री सहित किसी ने भी नैतिक आधार पर इस्तीफा क्यों नहीं दिया? उन्होंने प्रधानमंत्री को कुछ साल पहले पश्चिम बंगाल में उनके एक भाषण की याद दिलाई जब एक निर्माणाधीन पुल गिरने से कई लोग मारे गए थे.

खरगे ने कहा, ‘‘आपने (मोदी) तब कहा था कि पश्चिम बंगाल का पुल ढहना वहां के लोगों की आंखें खोलने के लिए ‘ईश्वर का काम’ है. अब यहां (मोरबी में) पुल को किसने तोड़ा?’’ खरगे ने भाजपा द्वारा कांग्रेस पर देश को तबाह करने का आरोप लगाने के लिए भी निशाना साधा. खरगे ने कहा, ‘‘यह हम नहीं, बल्कि आप देश को बर्बाद कर रहे हैं. हम केवल सच्चाई की ओर से लड़ रहे हैं. हम सच्चाई के पक्ष में हैं.’’

उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) अपने झूठ के कारण और वोट के लिए समाज को विभाजित करके अस्तित्व में है. कांग्रेस अध्यक्ष ने आरोप लगाया, ‘‘वे (झूठ के जरिए) विभिन्न धर्मों के बीच कलह पैदा करते हैं, हिंदुओं और मुसलमानों के बीच लड़ाई कराते हैं, और दलितों तथा महिलाओं के खिलाफ अत्याचार करते हैं, लेकिन मोदी इन मुद्दों पर एक शब्द भी नहीं बोलते.’’

उन्होंने कथित चुप्पी के लिए मोदी पर कटाक्ष किया. खरगे ने कहा, ‘‘वह (मोदी) सिर्फ इतना करते हैं कि वह किसी मंदिर में जाते हैं, पूजा करते हैं. इससे देश की समस्याओं का समाधान नहीं होगा.’’ कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा, ‘‘वह पूजा करें, लेकिन उन्हें भुखमरी के शिकार लोगों को भोजन देना चाहिए, बढ़ती महंगाई और बेरोजगारी को कम करना चाहिए. जीडीपी में गिरावट देखी जा रही है, रुपया गिर रहा है. वह एक शब्द नहीं कह रहे हैं.’’

खरगे ने पार्टी कार्यकर्ताओं से आह्वान किया कि वे केंद्र और राज्य की ‘बेकार’ सरकारों को उखाड़ फेंककर राज्य और देश में कांग्रेस की सरकार बनाएं. उन्होंने कार्यकर्ताओं से घर-घर जाकर अभियान शुरू करने के लिए कहा क्योंकि ‘‘मीडिया हमारे साथ नहीं है.’’ उन्होंने कांग्रेस की युवा इकाई और छात्र इकाई से युवाओं को पार्टी में शामिल होने के लिए आर्किषत करने की अपील की. खरगे ने कांग्रेस कार्यकर्ताओं को उदयपुर बैठक में पार्टी में 50 प्रतिशत युवा होने की घोषणा की याद दिलाई और पार्टी कार्यकर्ताओं से कहा कि वे छात्रों को आर्किषत करने के लिए कॉलेज परिसरों में अपने संपर्क कार्यक्रम का विस्तार करें.