लॉकडाउन और अक्षय तृतीया, सोना-चांदी विक्रेता और खरीदार चिंतित, होम डिलीवरी की इजाजत नहीं

vedantbhoomidigital
0 0
Read Time:2 Minute, 39 Second

अक्षय तृतीया पर हर साल जितना सोना बिकता है वो पूरे साल के सोने की बिक्री का तीन से चार प्रतिशत तक होता है। पर इस साल अक्षय तृतीया 26 अप्रैल को तालाबंदी के दौरान आ रही है और खरीदारों से ज्यादा विक्रेता चिंतित हैं। यह त्योहार हिन्दू कैलेंडर विक्रम संवत के वैशाख महीने में आता है और हिन्दू परिवारों में ऐसी मान्यता है कि इस दिन अपनी क्षमता के अनुसार सोना जरूर खरीदना चाहिए। इस साल अक्षय तृतीया 26 अप्रैल को तालाबंदी के दौरान आ रही है। सोना-चांदी की दुकानें बंद होने की वजह से करोड़ों हिन्दू परिवार सोना नहीं खरीद पाएंगे। होम डिलीवरी की भी इजाजत नहीं है। लेकिन खरीदारों से ज्यादा चिंतित विक्रेता हैं। 2019 में अक्षय तृतीया पर 23 टन सोना बिका था, यानी 30 अरब रुपये से भी ज्यादा का व्यापार। हर साल इस तिथि पर जितना सोना बिकता है वो पूरे साल के सोने की बिक्री का तीन से चार प्रतिशत तक होता है।

ग्राहक चाहे तो घर पर डिलीवरी भी हो सकती है। इसमें सरकारी कंपनी एमएमटीसी से ले कर तनिष्क और कल्याण जैसी सोना-चांदी के आभूषण इत्यादि बेचने वाली कंपनियां और पेटीएम जैसी वित्तीय टेक्नोलॉजी वाली कंपनियां भी शामिल हैं।

एमएमटीसी स्विट्जरलैंड की कंपनी पीएमपी के साथ मिलकर डिजिटल सोना खरीदने की सुविधा दे रही है। ये बैंकों, ब्रोकिंग कंपनियों और पेटीएम जैसी कंपनियों के जरिए मिलता है। सोने में निवेशकों का हमेशा भरोसा रहता है और संकट के समय यह भरोसा और गहरा जाता है। पूरी दुनिया में कोरोना वायरस से फैली महामारी के बीच इस समय सोने की मांग में भारी उछाल देखने को मिल रही है। थोक व्यापारी और खुदरा ग्राहक दोनों ही सोना खरीदने की होड़ में लगे हैं।

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %
Next Post

केंद्र सरकार एसी इस्तेमाल के संबंध में जारी किया एडवाइजरी

नई दिल्ली। केंद्र सरकार ने घर और दफ्तरों में एसी के इस्तेमाल के संबंध में एडवाइजरी जारी करते हुए कहा कि घर में लगे एयर कंडीशनर का तापमान 24-30 डिग्री सेंटीग्रेड के बीच होना चाहिए। कमरे में एयर कंडीशनर चलाते समय खिड़कियां थोड़ी खुली होनी चाहिए। शुष्क जलवायु में उसके […]

You May Like