महाराष्ट्र के आवास मंत्री जितेंद्र अव्हाड़ कोरोना के चपेट में, हाल ही में 14 निजी स्टाफ कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे

vedantbhoomidigital
0 0
Read Time:2 Minute, 42 Second

मुंबई कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की संख्‍या के मामले में भारत का वुहान बनता जा रहा है।  पिछले 24 घंटे में महाराष्ट्र में कोरोना वायरस संक्रमण के 778 नए मामले के साथ कुल संक्रमित लोगों की संख्या 6427 पहुंच चुकी है। इस बीच खबर आई है कि आवास मंत्री जितेंद्र अव्हाण भी कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं।  पिछले 24 घंटे में अकेले मुंबई में 500 से ज्यादा मामले सामने आ चुके हैं। हाल ही में जितेंद्र अव्हाड़ के 14 निजी स्टाफ कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे। इन 14 स्टाफ में 5 पुलिस कॉन्स्टेबल थे, जो उनकी सुरक्षा में तैनात हैं, जबकि बाकी 9 लोगों में उनके निजी स्टाफ, घर के नौकर और पार्टी के कार्यकर्ता शामिल हैं।

बताया जा रहा है कि जितेंद्र अव्हाड़ का स्टाफ मुंब्रा पुलिस स्टेशन में तैनात एक सिपाही के संपर्क आया था, जो बाद में पॉजिटिव निकला था। इसके बाद जितेंद्र अव्हाड़ ने खुद को क्वारनटीन कर लिया था। इससे पहले  जितेंद्र अव्हाड़ के 15 स्टाफ में कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे। जिसमें 5 पुलिस कॉन्स्टेबल, निजी स्टाफ, घर के नौकर और पार्टी के कार्यकर्ता शामिल हैं। जितेंद्र अव्हाड़ एक पुलिस अधिकारी के संपर्क में आए थे, ये अधिकारी बाद में कोरोना पॉजिटिव पाया गया था। इसके बाद आवास मंत्री अव्हाड़ ने कुछ दिनों के लिए खुद क्वारनटीन पर जाने की घोषणा की थी। कोरोना पॉजिटिव पाए गए वह राज्य के पहले मंत्री हैं। उन्होंने अपने विधानसभा क्षेत्र के लोगों से भी अपील भी की थी कि वे अपने घरों में रहें और लॉकडाउन का पालन करें। इससे पहले जितेंद्र अव्हाड़ के संपर्क में आए पूर्व सांसद भी कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे। ठाणे से पूर्व सांसद आनंद परांजपे का कोविड-19 टेस्ट पॉजिटिव आया था।

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %
Next Post

मुंबई के वर्ली, बायकुला और कुर्ला सबसे ज्यादा कोरोना प्रभावित ज़ोन, एक तिहाई मरीज इन तीनों वॉर्ड से

मुंबई। पूरे देश में कोरोना वायरस के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं। भारत में कोविड-19 मरीजों की संख्या शनिवार सुबह बढ़कर 24 हजार के पार पहुंच गई। इसके अलावा 775 लोगों की मौत हो चुकी है। मुंबई में लगातार बढ़ते मरीजों में एक तिहाई मामला तीन निकाय से हैं […]

You May Like