माओवादियों, इस्लामी कट्टरपंथियों ने हिन्दुत्व, भारत के खिलाफ तंत्र खड़ा किया : आरएसएस

4

नयी दिल्ली. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के सह सरकार्यवाह अरूण कुमार ने बृहस्पतिवार को कहा कि माओवादियों, सांस्कृतिक मार्क्सवादियों, इस्लामिक कट्टरपंथियों, वैश्विक पूंजीवादियों ने अपने विचार थोपने के लिए हिन्दुत्व और भारत के खिलाफ तंत्र खड़ा किया है.

कुमार ने कहा कि केंद्र सरकार के निर्णायक नेतृत्व ने नयी राष्ट्रीय शिक्षा नीति पेश की है लेकिन इस्लामिक कट्टरपंथियों एवं वामपंथियों द्वारा प्रायोजित प्रचार संवाद का मुकाबला किये जाने की जरूरत है क्योंकि यह भारत आधारित शिक्षा व्यवस्था को चुनौती देता है.

आरएसएस के सह सरकार्यवाह ने ‘भारत में शिक्षा प्रणाली’ विषय पर तीन दिवसीय सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि संघ के विचारों को लोग स्वीकार करते हैं लेकिन माओवादियों, सांस्कृतिक मार्क्सवादियों, इस्लामिक कट्टरपंथियों, वैश्विक पूंजीवादियों ने हिन्दुत्व और भारत के खिलाफ एक तंत्र खड़ा किया ताकि वे अपने विचार थोप सकें.

उन्होंने कहा कि ऐसे में इसका मुकाबला किये जाने की जरूरत है, खासकर शैक्षणिक संस्थानों में यह जरूरी है क्योंकि यह शिक्षा व्यवस्था को प्रभावित करता है. कुमार ने नयी राष्ट्रीय शिक्षा नीति की सराहना की और कहा कि यह भारत केंद्रित है जिसमें भारतीय मूल्यों एवं संस्कृति का सार है.