मैरीकोम, सिंधू, मीराबाई, केशवन आईओए एथलीट आयोग में

6

नयी दिल्ली. पांच बार की विश्व चैम्पियन मुक्केबाज एम सी मैरीकोम , दो बार की ओलंपिक पदक विजेता पी वी सिंधू और ओलंपियन शिवा केशवन को सोमवार को यहां हुए चुनाव में आईओए एथलीट आयोग के सदस्य के रूप में निर्विरोध चुना गया. आयोग में चुने गए दस खिलाड़ियों में तोक्यो ओलंपिक रजत पदक विजेता भारोत्तोलक मीराबाई चानू, 2012 के ओलंपिक कांस्य पदक विजेता गगन नारंग, टेबल टेनिस खिलाड़ी अचंता शरत कमल, हॉकी खिलाड़ी रानी रामपाल, तलवारबाज भवानी देवी, नौकायन खिलाड़ी बजरंग लाल और पूर्व शॉटपुट खिलाड़ी ओ पी करहाना शामिल हैं.

दस खिलाड़ियों में से पांच महिलायें हैं और सभी ओलंपियन हैं . सिर्फ केशवन शीतकालीन ओलंपियन हैं. सिर्फ दस खिलाड़ियों ने ही नामांकन दाखिल किया था और आईओए चुनाव के निर्वाचन अधिकारी उमेश सिन्हा ने सभी को निर्विरोध निर्वाचित घोषित किया .
भारत के पहले ओलंपिक व्यक्तिगत स्वर्ण पदक विजेता निशानेबाज अभिनव ंिबद्रा और पूर्व हॉकी कप्तान सरदार सिंह अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति और एशियाई ओलंपिक परिषद के सदस्य के तौर पर आयोग में शामिल होंगे . दोनों को मतदान का अधिकार होगा. ंिबद्रा को 2018 में आठ साल के लिये आईओसी एथलीट आयोग का सदस्य चुना गया था जबकि सरदार 2019 में चार साल के लिये ओसीए एथलीट आयोग के सदस्य बने .

भारतीय ओलंपिक संघ के नये संविधान के तहत आयोग में महिला और पुरूष प्रतिनिधि समान संख्या में होने चाहिये. आयोग के दो सदस्य आईओए कार्यकारी परिषद में होंगे जिसका चुनाव दस दिसंबर को होना है. केशवन ने कहा ,‘‘ यह देश में खिलाड़ियों के लिये ऐतिहासिक पल है . आईओए के इतिहास में पहली बार हमारे पास एथलीट आयोग होगा . हमारी पहली बैठक मंगलवार को है जिसमें पता चलेगा कि अध्यक्ष और उपाध्यक्ष कौन होगा .’’ उन्होंने कहा ,‘‘ आईओए एथलीट आयोग के चुनाव में जिन राष्ट्रीय खेल महासंघों के एथलीट आयोग हैं, वे एक पुरूष और एक महिला मतदाता को नामांकित कर सकते हैं और जिन एनएसएफ के एथलीट आयोग नहीं है, उनकी कार्यकारी परिषद एक पुरूष और एक महिला को मतदान के लिये नामित कर सकती है .’’