मुंबई के वर्ली, बायकुला और कुर्ला सबसे ज्यादा कोरोना प्रभावित ज़ोन, एक तिहाई मरीज इन तीनों वॉर्ड से

vedantbhoomidigital
0 0
Read Time:3 Minute, 15 Second

मुंबई। पूरे देश में कोरोना वायरस के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं। भारत में कोविड-19 मरीजों की संख्या शनिवार सुबह बढ़कर 24 हजार के पार पहुंच गई। इसके अलावा 775 लोगों की मौत हो चुकी है। मुंबई में लगातार बढ़ते मरीजों में एक तिहाई मामला तीन निकाय से हैं जो वर्ली, बायकुला और कुर्ला हॉटस्पॉट बने हुए हैं। वर्ली में पॉजिटिव केसों की संख्या महीने की शुरुआत से बढ़ना शुरू हुए। हाल ही के दिनों में यहां कोरोना मामलों ने तेजी पकड़ ली जिससे दूसरे वॉर्ड जैसे बायकुला और कुर्ला भी संवेदनशील क्षेत्र में तब्दील हो गए।
जी साउथ वॉर्ड जिसमें वर्ली और लोवर परेल शामिल हैं, जहां गुरुवार तक कोरोना के कुल मरीजों की संख्या 534 हो गई। एक दिन में यहां 27 केस पाए गए। ई वॉर्ड जिसमें बायकुला और मुंबई सेंट्रल शामिल हैं यहां अब संक्रमण के मामले बढ़कर 421 हो गए हैं। वही एल वॉर्ड जिसमें कुर्ला और साकी नाका शामिल हैं वहां गुरुवार तक 312 कोरोना पॉजिटिव केस हो चुके हैं। जी साउथ वार्ड में जहां सबसे ज्यादा कोरोना मरीज हैं वहां 69 इंडेक्स केस हैं जिनसे यहां के लोगों में कोरोना इंफेक्शन फैला। संक्रमित लोगों के संपर्क में आए 3500 लोगों का पता लगाया गया। इस वॉर्ड में 12 से अधिक लोगों की मौत भी हो चुकी है। ई वार्ड में पिछले बुधवार को 162 केस थे और इस मंगलवार तक यहां केस बढ़कर 349 हो गए। एल वॉर्ड में जहां पिछले हफ्ते बुधवार तक 92 केस थे इस मंगलवार तक 240 हो गए।
स्वास्थ्य मंत्रालय के ताजा आंकड़ों के अनुसार, भारत में कोरोना वायरस मरीजों की संख्या 24,506 हो गई है। इसमें अब तक 5063 मरीज अस्पताल से डिस्चार्ज हो चुके हैं। देश में बीते 12 घंटों में 52 मौतें हुई हैं। इसके अलावा 1054 नए मामले सामने आ चुके हैं। महाराष्ट्र में कोरोना के 6817 मरीज मिल चुके हैं। इसमें से 840 ऐसे हैं, जो पूरी तरह से ठीक हो चुके हैं। वहीं, 301 लोगों की मौत हुई है। गुजरात में 2815 मरीज सामने आए हैं। इसमें 265 लोगों ठीक हुए हैं। वहीं, 127 लोगों की मौत हुई है। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली की बात करें तो अब तक कोविड-19 के 2514 मरीज पाए जा चुके हैं। 857 लोग ठीक हो चुके हैं। वहीं, 53 की मौत हुई है।

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %
Next Post

लॉकडाउन और अक्षय तृतीया, सोना-चांदी विक्रेता और खरीदार चिंतित, होम डिलीवरी की इजाजत नहीं

अक्षय तृतीया पर हर साल जितना सोना बिकता है वो पूरे साल के सोने की बिक्री का तीन से चार प्रतिशत तक होता है। पर इस साल अक्षय तृतीया 26 अप्रैल को तालाबंदी के दौरान आ रही है और खरीदारों से ज्यादा विक्रेता चिंतित हैं। यह त्योहार हिन्दू कैलेंडर विक्रम संवत के […]

You May Like