अमृतसर/चंडीगढ़. पंजाब के अमृतसर में शुक्रवार को शिवसेना (टकसाली) नेता सुधीर सूरी की गोली मारकर हत्या कर दी गई. पुलिस ने यह जानकारी दी. उन्होंने कहा कि यह घटना शहर के सबसे व्यस्त इलाकों में से एक, मजीठा रोड पर गोपाल मंदिर के बाहर हुई जहां सूरी अन्य लोगों के साथ धरने पर बैठे थे. सड़क किनारे कुछ खंडित मूर्तियां मिलने के बाद वह अपने साथियों के साथ मंदिर के बाहर धरना दे रहे थे. उनका कहना था कि यह मूर्तियों की बेअदबी का मामला है. सूरी गोपाल मंदिर के प्रबंधन का विरोध कर रहे थे.

पुलिस के अनुसार, सूरी पर पांच से अधिक गोलियां चलाई गईं और उन्हें अस्पताल ले जाया गया जहां उनकी मौत हो गई. आरोपी संदीप सिंह को गिरफ्तार कर लिया गया है और अपराध में इस्तेमाल किए गए हथियार को भी जब्त कर लिया गया है. उन्होंने बताया कि सूरी लंबे समय से कई ‘गैंगस्टर’ के निशाने पर थे और सरकार ने पंजाब पुलिस के आठ जवानों के साथ उन्हें सुरक्षा मुहैया कराई थी.

अमृतसर के पुलिस आयुक्त अरुण पाल सिंह ने यहां संवाददाताओं से कहा, ‘‘सूरी मजीठा रोड पर गोपाल मंदिर के बाहर धरना दे रहे थे. हमलावर मौके पर पहुंचा और उन पर गोलीबारी की.’’ उन्होंने कहा कि हमलावर की पहचान कर ली गई और सूरी के सुरक्षार्किमयों ने उसे मौके पर ही पकड़ लिया.

पुलिस आयुक्त ने कहा, \”हमलावर का लाइसेंसी हथियार भी जब्त कर लिया गया है.\” पुलिस के अनुसार आरोपी अमृतसर शहर के सुल्तानंिवड इलाके का रहने वाला है. उन्होंने कहा कि पंजाब पुलिस के अधिकारियों और खुफिया एजेंसियों के अधिकारियों की एक टीम उससे पूछताछ कर रही है.

घटना के बाद, विपक्षी कांग्रेस और भाजपा ने पंजाब की भगवंत मान नीत आम आदमी पार्टी (आप) सरकार पर निशाना साधा. भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की पंजाब इकाई के अध्यक्ष अश्विनी शर्मा ने दावा किया कि राज्य में कानून-व्यवस्था की स्थिति पूरी तरह से बिगड़ गई है. वहीं कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अमंिरदर सिंह राजा वंिडग ने एक ट्वीट में कहा, \”… ंिहसा अस्वीकार्य है. दोषियों को कानून के दायरे में लाया जाना चाहिए.\”

youtube channel thesuccessmotivationalquotes