सरगम की साढ़ेसाती के साथ वीकडे प्राइमटाइम में हंसी का डेली डोज़ लेकर आ रहा है सोनी एंटरटेनमेंट टेलीविजन

मुंबई, 22 फरवरी 2020 : तनाव दूर करने के लिए हंसना सबसे अच्छी दवा है और सोनी एंटरटेनमेंट टेलीविजन अपने नए शो सरगम की साढ़ेसाती के साथ हंसी का बढ़िया डोज़ लेकर आ रहा है। जहां इस चैनल ने फिक्शन, ड्रामा, रोमांस, ऐतिहासिक और क्राइम जाॅनर में हमेशा अलग तरह का कॉन्टेंट दिया है, वहीं इसमें कुछ सफलतम नॉनफिक्शन रियलिटी शोज़ भी दिखाए गए। सोनी एंटरटेनमेंट टेलीविजन अब एक ऐसा ही एक सिटकॉम लेकर आ रहा है, जो परिवार के साथ बैठकर टीवी देखने को बढ़ावा देता है। ऑप्टिमिस्टिक्स एंटरटेनमेंट के विपुल शाह के निर्माण में बना सरगम की साढ़ेसाती अवस्थी परिवार की कहानी दिखाता है, जिसमें सरगम एक अनोखे ससुराल की बहू बनी हैं, जिसमें वो सभी पुरुषों के बीच एकमात्र महिला हैं।

गाज़ियाबाद के अवस्थी परिवार की शरारतें दर्शकों को हंसा हंसाकर लोटपोट कर देंगी, साथ ही अपनी-सी लगने वाली स्थितियों से उनका दिल भी जीत लेंगी। कुल मिलाकर अवस्थी परिवार सामान्य सी स्थिति को भी ऐसी मजेदार स्थिति में बदल देगा, जिससे दर्शक आसानी से जुड़ सकते हैं। इस शो के लिए मेकर्स ने बेहतरीन कलाकारों को चुना है, जिसमें मेरे डैड की दुल्हन की एक्टर अंजलि तत्रारी सरगम का रोल निभा रही हैं और कुणाल सलूजा, अपारशक्ति अवस्थी के किरदार में हैं। बाकी के कलाकारों में दर्शन जरीवाला, सनत व्यास, ओजस रावल, यश सहगल, विष्णु भोलवानी, आकाश मखीजा और क्रिश चुग शामिल हैं।

सरगम अवस्थी एक नेकदिल, समझदार, निस्वार्थ स्वभाव की महिला हैं, जो एक ग्रहिणी हैं। उन्हें दो प्रमुख चुनौतियों का सामना करना पड़ता है। पहली तो यह कि उन्हें खाना बनाना नहीं आता, जो ऐसा गुण है, जो एक अच्छी बहू में देखा जाता है। दूसरी यह कि चीजें सही करने के फेर में वो हर चीज में हाथ आजमाती हैं और चूक करती रहती हैं। इस कहानी में उस वक्त कई गुदगुदाने वाले मोड़ आते हैं, जब सरगम साढ़े सात पुरुषों के साथ रहने के लिए अपनी भरपूर कोशिश करती हैं, जिसमें सरगम के पति अपारशक्ति अवस्थी यानी अप्पू भी हैं, जो दुनिया के लिए तो एक छोटे मोटे ज्ञानी हैं लेकिन वो घर का एक जुगाड़ू हीरो हैं। वो एक उभरते हुआ एक्टर हैं लेकिन उनकी जीवनशैली बड़ी अस्त-व्यस्त है और उन्हें गर्व होता है कि वो एक मल्टीटास्कर हैं।

दूसरी ओर, दादाजी आनंदीलाल अवस्थी, जो अपने फर्जी इलाज के तरीकों के बारे में बात करके लोगों की सहानुभूति बटोरते हैं, घर के सबसे बुजुर्ग लेकिन सबसे जवांदिल सदस्य हैं। घर में बातचीत के लिए उनका पसंदीदा विषय है – पेट के हाजमे के बारे में बात करना।

दादा जी के बेटे का नाम है छेदीलाल अवस्थी, जिन्हें लोग कंजूस भी बुलाते हैं क्योंकि उनका ध्यान हमेशा पैसे बचाने की तरफ होता है। वो घर के सबसे जिम्मेदार सदस्य हैं। वो एक साड़ी की दुकान चलाते हैं और परिवार के नियम तोड़ने वाले सदस्यों के लिए रूल मेकर हैं।

इसके बाद मिलिए घर के एंग्री बर्ड आशा अमर अवस्थी से, जो हर चीज में बहुत मुकाबला करते हैं। यदि कोई भी उन्हें आशा बुलाता है, तो वो बहुत जल्दी गुस्सा हो जाते हैं। अपने गुस्से की वजह से ही उनकी पत्नी सीमा उनसे अलग हो गई थी, लेकिन उनके बेटे का नाम अक्की है।

इस घर में एक अलौकिक अजीब अवस्थी भी हैं। जैसा कि उनका नाम है, वो घर के सबसे अजीब इंसान हैं। वो ना सिर्फ अलौकिक शक्तियों में यकीन रखते हैं, बल्कि उनका एक बड़ा काल्पनिक दिमाग है और वे हर स्थिति का विश्लेषण करते रहते हैं।

इस घर में आधुनिक युग का ब्रह्मचारी भी है, जिसका नाम है आस्तिक कुमार अवस्थी। वो घर में सिर्फ सरगम से बात करते हैं। वो आध्यात्मिक और अनुशासित हैं और “दुनिया सारी ब्रह्मचारी’ नाम के एक ऐप का इस्तेमाल करते हैं जिसमें वो सात्विक बने रहने के तरीकों का पालन करते हैं।clip 15

एकलव्य अवस्थी, जिनका बीच का नाम पढ़ाकू है, घर के सबसे छोटे और सबसे स्मार्ट सदस्य हैं। वो एक मानवीय रोबोट की तरह हैं और उनके पास हर सवाल का जवाब होता है, जो अवस्थी बंधुओं के बीच दुस्वप्न की तरह होता है।

उनके बीच नोकझोंक का रिश्ता है जैसा कि हर घर में होता है।

तो आप भी इस अनोखे अवस्थी परिवार से मिलें और जिंदगी के इस उतार-चढ़ाव भरे सफर का हिस्सा बन जाइए। देखिए सरगम की साढ़ेसाती, शुरू हो रहा है आज रात यानी 22 फरवरी से, हर सोमवार से शुक्रवार रात 8:30 बजे, सिर्फ सोनी एंटरटेनमेंट टेलीविजन पर।

प्रतिक्रियाएं :

आशीष गोलवलकर हेड -प्रोग्रामिंग, सोनी एंटरटेनमेंट टेलिविजन एंड डिजिटल बिजनेस

टेलीविजन पारंपरिक रूप से एक परिवार का माध्यम है। इसी बात को ध्यान में रखते हुए सरगम की साढ़ेसाती परिवार के हर सदस्य को एक साथ लाकर उन्हें हंसाने और उनकी रोजमर्रा की चिंताएं मिटाने का हमारा प्रयास है। इस सिटकॉम के साथ हम अपनी फिक्शन प्रोग्रामिंग का विस्तार करते हुए खुशी महसूस कर रहे हैं, जो सभी को अपनी अनोखी कहानी, आकर्षक किरदारों और मनोरंजक स्थितियों से बांध लेगा।

विपुल शाह, चेयरमैन एवं एमडी, ऑप्टिमिस्टिक्स एंटरटेनमेंट

सोनी एंटरटेनमेंट टेलिविजन ने हमेशा नए जमाने की प्रयोगात्मक कहानियां दिखाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। सरगम की साढ़ेसाती इसी सिलसिले को आगे बढ़ाता है। हमने इससे पहले इस चैनल के लिए कॉमेडी सर्कस और सास बिना ससुराल जैसे कॉमेडी शोज़ किए हैं और हमें एक बार फिर इस जाॅनर में काम करते हुए खुशी महसूस हो रही है, जो दर्शकों को खूब हंसाएगा।

एक्टर अंजलि तत्रारी, सरगम के रोल में

मुझे खुशी है कि मेरे डैड की दुल्हन जैसे शो के बाद मुझे सरगम की साढ़ेसाती में सरगम का रोल निभाने का मौका मिला है। इस शो का कॉन्सेप्ट बहुत दिलचस्प है और सबसे खास बात यह है कि यह लोगों के बीच हंसी-खुशी फैलाने के लिए बनाया गया है। एक एक्टर को इससे ज्यादा और क्या चाहिए? मैं पहली बार एक सिटकॉम में काम कर रही हूं और मेरे लिए यह सीखने का बहुत अच्छा अनुभव है। किसी को हंसाना वाकई बहुत मुश्किल है और हमने अवस्थी परिवार के रूप में लोगों को अपनी-सी कहानी दिखाने की भरपूर कोशिश की है।

दर्शन जरीवाला, छेदीलाल अवस्थी के रोल में

बतौर एंटरटेनर्स हम हमेशा ज्यादा से ज्यादा दर्शकों तक पहुंच बनाने का प्रयास करते रहे हैं। एक साफ सुथरा पारिवारिक मनोरंजक शो हमेशा सभी को साथ लाता है और उनके बीच हंसी-खुशी बिखेर देता है। मुझे वाकई इस बात की खुशी है कि सोनी एंटरटेनमेंट टेलीविजन और ऑप्टिमिस्टिक्स एंटरटेनमेंट ने इतने तनावपूर्ण समय के बीच इतना हल्का-फुल्का और मस्ती भरा शो लॉन्च करने का फैसला किया है।