सूर्यकुमार नया मिस्टर 360, उसके बिना भारत को 140-150 रन बनाने के लिए जूझना होगा: गावस्कर

5

नयी दिल्ली. पूर्व महान बल्लेबाज सुनील गावस्कर ने कहा है कि सूर्यकुमार यादव नए मिस्टर 360 डिग्री (मैदान में चारों तरफ शॉट खेलने वाला खिलाड़ी) बन गए हैं और अगर वे विफल रहते हैं तो भारत को पर्याप्त रन बनाने के लिए जूझना पड़ेगा. दुनिया के नंबर एक टी20 बल्लेबाज सूर्यकुमार ने अपने पहले ही टी20 विश्व कप में प्रभावित किया है और सुपर 12 चरण में उनके प्रभावी प्रदर्शन से भारत की सेमीफाइनल की राह आसान हुई. ंिजबाब्वे के खिलाफ अंतिम सुपर 12 मैच में सूर्या ने 25 गेंद में नाबाद 61 रन बनाए.

इंडिया टुडे ने गावस्कर के हवाले से कहा, ‘‘इन प्रत्येक पारी में उसने 360 डिग्री पर रन बनाए. वह नया मिस्टर 360 डिग्री है. उसने विकेटकीपर की बाईं ओर से एक छक्का जड़ा जो शानदार था. अंतिम ओवरों में उसने गेंदबाज के कोण का फायदा उठाते हुए शॉट खेले.’’ उन्होंने कहा, ‘‘इसके अलावा लॉफ्टेड कवर ड्राइव, उसके पास सभी शॉट मौजूद हैं. उसने स्ट्रेट ड्राइव भी खेला.’’ पूर्व भारतीय कप्तान का मानना है कि सूर्यकुमार की वजह से ही भारत बचाव करने लायक स्कोर बनाने में सफल हो रहा है.

गावस्कर ने कहा, ‘‘वह असल में ऐसा खिलाड़ी बन रहा है जो भारत को ऐसे स्कोर तक पहुंचा रहा है जिसका बचाव किया जा सके. भारत ने जो रन बनाए वह एमसीजी में किसी टी20 अंतरराष्ट्रीय में सर्वाधिक स्कोर है. उसके नाबाद 61 रन के बिना भारत 150 रन तक भी नहीं पहुंच पाता.’’ आलोचनाओं का शिकार लोकेश राहुल ने बांग्लादेश और ंिजबाब्वे के खिलाफ पिछले दो मैच में लगातार दो अर्धशतक के साथ फॉर्म में वापसी की है. गावस्कर ने कहा कि अगर सूर्यकुमार विफल होते हैं जो राहुल को जिम्मेदारी लेनी होगी.

उन्होंने कहा, ‘‘अगर सूर्या विफल रहता है तो भारत को 140-150 रन बनाने के लिए भी जूझना पड़ेगा इसलिए बेहद महत्वपूर्ण है कि राहुल जिम्मेदारी ले.’’ कप्तान रोहित शर्मा भी फॉर्म के लिए जूझ रहे हैं और पांच मैच में सिर्फ 89 रन बना पाए हैं जिसमें नीदरलैंड के खिलाफ 53 रन की पारी भी शामिल है.

गावस्कर ने कहा, ‘‘उम्मीद करता हूं कि उसे अपने रन अंतिम दो मैच के लिए बचाए हुए हैं. ये सबसे बड़े मुकाबले होंगे. ग्रुप मैच में आपको पता होता है कि एक और मैच मिलेगा इसलिए आप कभी कभी अधिक प्रयास करते हैं और आउट हो जाते हैं.’’ उन्होंने कहा, ‘‘अब ये नॉकआउट मुकाबले हैं. नॉकआउट मुकाबलों में आप काफी अधिक प्रयोग नहीं कर सकते. आपको अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करना होता है. उम्मीद करते हैं कि रोहित अच्छा प्रदर्शन करेगा.’’