T-20 विश्वकप: श्रीलंका की बड़ी जीत, अफगानिस्तान सेमीफाइनल की दौड़ से बाहर

6

ब्रिसबेन. स्पिनर वांिनदु हसरंगा की अगुवाई में गेंदबाजों के शानदार प्रदर्शन और धनंजय डिसिल्वा के अर्धशतक की मदद से श्रीलंका ने टी20 विश्वकप के सुपर-12 के मैच में मंगलवार को यहां अफगानिस्तान को नौ गेंद शेष रहते हुए छह विकेट से हराया. श्रीलंका ने इस जीत से जहां सेमीफाइनल में पहुंचने की अपनी उम्मीदें जीवंत रखी वहीं अफगानिस्तान अंतिम चार की दौड़ से बाहर हो गया है.

अफगानिस्तान ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए अच्छी शुरुआत की लेकिन इसके बाद उसने नियमित अंतराल में विकेट गंवाए. उसकी टीम आखिर में आठ विकेट पर 144 रन ही बना पाई. उसकी तरफ से सलामी बल्लेबाज रहमानुल्ला गुरबाज ने 28 और उस्मान गनी ने 27 रन बनाए.

श्रीलंका के लिए हसरंगा ने चार ओवर में 13 रन देकर तीन विकेट जबकि तेज गेंदबाज लाहिरू कुमारा ने चार ओवर में 30 रन देकर दो विकेट लिए. इसके बाद धनंजय ने श्रीलंका की पारी को संवारा तथा 42 गेंदों पर नाबाद 66 रन की आकर्षक पारी खेली. इससे श्रीलंका ने 18.3 ओवर में चार विकेट पर 148 रन बनाकर आसान जीत दर्ज की.

अपेक्षाकृत छोटे लक्ष्य का पीछा करते हुए श्रीलंका ने अच्छी शुरुआत नहीं की. मुजीब उर रहमान (24 रन देकर दो विकेट) में पथुम निसांका (10) को जल्द ही पवेलियन की रहा दिखा दी. फजलहक फारूकी (22 रन देकर एक विकेट) ने अगला ओवर मेडन करके शिकंजा कसा.

कुसाल मेंडिस (25) ने हालांकि अगले ओवर लगातार दो चौके लगाए जिससे श्रीलंका ने पावरप्ले में एक विकेट पर 28 रन बनाए.
राशिद खान (31 रन देकर दो विकेट) ने अपने पहले ओवर में ही मेंडिस को आउट कर दिया. इस स्टार स्पिनर के अगले ओवर में हालांकि 14 रन बने जिसमें धनंजय का एक चौका और एक छक्का शामिल है. धनंजय ने मोहम्मद नबी के अगले ओवर में भी छक्का जड़ा.

धनंजय ने चरित असलांका (19) के साथ 54 रन और भानुका राजपक्षे (18) के साथ 42 रन की साझेदारी करके श्रीलंका को जीत दिलाई. इससे पूर्व मैच के पहले दो ओवरों में गेंद ंिस्वग कर रही थी लेकिन इसके बाद श्रीलंकाई गेंदबाज पावर प्ले के ओवरों में अपनी लेंथ पर नियंत्रण नहीं रख पाए. गुरबाज ने इस बीच आक्रामक रवैया अपनाया.

इस विकेटकीपर बल्लेबाज ने कासुन रजिता पर छक्का लगाया और इसके बाद भी अपने तूफानी तेवर जारी रखे जिससे अफगानिस्तान ने पावर प्ले के छह ओवरों में 42 रन बनाए. पावर प्ले के तुरंत बाद कुमारा ने हालांकि श्रीलंका को पहली सफलता दिलाई. गुरबाज बड़ी पारी खेलने की स्थिति में दिख रहे थे लेकिन कुमारा ने उनके बल्ले और पैड के बीच से गेंद निकालकर उन्हें बोल्ड कर दिया.

इसके बाद स्पिनरों ने जिम्मा संभाला और रन गति पर अंकुश लगाया. गनी ने इस बीच कुमारा पर लांग आॅफ पर छक्का लगाया. इसके बाद उन्होंने हसरंगा पर छक्का लगाने के प्रयास में डीप मिडविकेट पर कैच थमा दिया. कुमारा ने इसके बाद इब्राहिम जादरान (22) के रूप में अपना दूसरा विकेट लिया. कप्तान मोहम्मद नबी (13) भी देर तक नहीं टिक पाए. श्रीलंका का क्षेत्ररक्षण अच्छा नहीं था लेकिन इसके बावजूद अफगानिस्तान अंतिम 30 गेंदों पर केवल 40 रन बना पाया और इस बीच उसने पांच विकेट गंवाए.