कोयंबटूर. कोयंबटूर में पिछले दिनों कार विस्फोट में मारे गए शख्स जेम्स मुबीन के घर से बरामद सामग्री में कट्टरता, आईएस से संबंधित प्रतीकों और लोगों के वर्गीकरण का संकेत देने वाले हस्तलिखित नोट शामिल हैं. पुलिस सूत्रों ने यह जानकारी दी. अब राष्ट्रीय अन्वेषण अभिकरण (एनआईए) मामले की जांच कर रहा है. पूर्व में कोयंबटूर पुलिस ने घटना के संबंध में प्राथमिकी में गैरकानूनी गतिविधि (रोकथाम) अधिनियम को शामिल किया था. मुबीन के घर से बरामद एक स्लेट पर तमिल में ‘‘अल्लाहुविन इलंिथमीधु काई वैथल वेरारुपम’’ (अल्लाह के घर को छूने वालों को उखाड़ फेंका जाएगा) लिखा था.

पुलिस सूत्रों ने कहा कि शुरुआत में जांच करने वाली शहर की पुलिस द्वारा मुबीन के घर से कुछ दस्तावेज और ‘जिहाद’ पर लिखित सामग्री, आतंकी संगठन आईएसआईएस के झंडे का चित्र और मानव जाति का ‘‘मुसलमान’’ तथा ‘‘काफिर’’ के रूप में वर्गीकरण, संभावित कट्टरता की ओर इशारा करते हैं. सूत्रों ने कहा कि अधिकारियों को एक हस्तलिखित नोट भी मिला जिसमें कहा गया था, ‘‘जिहाद युवाओं का फर्ज है न कि बच्चों और बड़ों का’’, वहीं पवित्र कुरान से भी कुछ संदर्भ थे.

पुलिस ने कहा कि एनआईए इन ‘‘प्रामाणिक दस्तावेजों’’ के आधार पर जांच तेज कर सकती है. मुबीन से 2019 में एनआईए ने पूछताछ की थी. दीपावली से एक दिन पहले 23 अक्टूबर को मुबीन जिस कार में यात्रा कर रहा था उसमें गैस सिलेंडर फट गया, जिससे उसकी मौत हो गई. यह घटना शहर के सांप्रदायिक रूप से संवेदनशील इलाके उक्कडम में कोट्टई ईश्वरन मंदिर के बाहर हुई.

तलाशी के दौरान, पुलिस ने मुबीन के घर से कम-तीव्रता वाले 75 किलोग्राम विस्फोटक बरामद किए थे. भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की प्रदेश इकाई ने कहा था कि यह एक ‘‘आतंकवादी हमला’’ था और मुबीन आईएस से जुड़ाव रखता था. मुबीन के अब तक छह साथियों को गिरफ्तार किया जा चुका है.

youtube channel thesuccessmotivationalquotes