शिवसेना नेता सूरी का हत्यारोपी खुद ही कट्टरपंथी बना, नफरत से प्रेरित होकर किया अपराध: पुलिस

3

अमृतसर. पंजाब पुलिस ने रविवार को कहा कि शिवसेना (टकसाली) के नेता सुधीर सूरी की हत्या के मामले का मुख्य आरोपी खुद ही कट्टरपंथी बना था और उसने नफरत से प्रेरित होकर यह अपराध किया. पुलिस ने कहा कि मामले की तफ्तीश के लिए एक विशेष जांच दल (एसआईटी) गठित किया गया है. एसआईटी की निगरानी अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (आंतरिक सुरक्षा) आर. एन. ढोके जबकि नेतृत्व पुलिस उपायुक्त (गुप्तचर) जगजीत वालिया करेंगे.

पुलिस आयुक्त अरुणपाल ंिसह ने यहां मीडिया को बताया कि सिटी-2 और सिटी-3 के अतिरिक्त डीसीपी, गैंगस्टर रोधी कार्य बल के प्रभारी और अपराध जांच एजेंसी के प्रभारी एसआईटी सदस्य हैं. आयुक्त ने कहा, ‘‘अब तक की गई जांच के अनुसार आरोपी संदीप सनी ने फेसबुक और अन्य सोशल मीडिया के माध्यम से खुद ही कट्टरपंथी बनकर नफरत से प्रेरित अपराध किया.’’ हालांकि, उन्होंने कहा कि यह निष्कर्ष नहीं है और इसकी गहन जांच की जाएगी.

उन्होंने कहा कि पुलिस विभिन्न पहलुओं से जांच करेगी. तकनीकी और वित्तीय जांच भी कराई जाएगी. आयुक्त ने कहा कि हत्या के मामले में अब तक केवल एक व्यक्ति का नाम लिया गया है. उल्लेखनीय है कि सूरी कथित तौर पर सड़क के किनारे ंिहदू देवी-देवताओं की कुछ टूटी हुई मूर्तियां पाए जाने के बाद शहर के सबसे व्यस्त स्थानों में से एक मजीठा रोड पर गोपाल मंदिर प्रबंधन के विरोध प्रदर्शन में हिस्सा ले रहे थे. इस दौरान शुक्रवार को उन्हें पांच गोलियां मार दी गई थीं.

रविवार को यहां दुर्गीना शिवपुरी श्मशान घाट में उनका अंतिम संस्कार किया गया, जिसमें सैकड़ों लोग शामिल हुए. अंतिम संस्कार का जुलूस भारी पुलिस सुरक्षा के बीच शहर के विभिन्न हिस्सों से होकर श्मशान घाट पहुंचा. सूरी सिख ‘कट्टरपंथियों’ के खिलाफ आवाज उठाते रहे थे और अतीत में वह विवादों में भी रहे थे. पंजाब पुलिस ने करीब दो साल पहले एक आपत्तिजनक वीडियो क्लिप को लेकर मध्य प्रदेश के इंदौर से सूरी को गिरफ्तार किया था.