जल जीवन मिशन के कार्यों में होगी पारदर्शिता: मंत्री गुरू रूद्रकुमार

vedantbhoomidigital
0 0
Read Time:2 Minute, 35 Second

रायपुर : लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी मंत्री गुरू रूद्रकुमार के निर्देशन पर जल जीवन मिशन के कार्यों को पूर्ण पारदर्शिता के साथ क्रियान्वित किया जा रहा है। मंत्री गुरू रूद्रकुमार ने इस संबंध में राज्य में जल जीवन मिशन के कार्यों के बेहतर क्रियान्वयन के लिए आवश्यक निर्देश अधिकारियों को दिए हैं। इसी कड़ी में संचालक जल जीवन मिशन एस.प्रकाश ने नीर भवन में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए निविदाकारों की राज्य स्तरीय बैठक ली।

कार्यालय मिशन संचालक, जल जीवन मिशन से प्राप्त जानकारी के अनुसार राज्य स्तरीय बैठक में संचालक एस. प्रकाश ने प्रस्तावित कार्यों के लिए तकनीकी विषयों की बिन्दुवार जानकारी निविदाकारों को दी। बैठक के दौरान विभिन्न जिलों के निविदाकारों द्वारा निविदा संबंधी प्रश्न किए गए। निविदाकारों ने निविदा कैसी होगी, निविदाओं की शर्तें क्या होगीं, निविदा शर्तों में पात्रता की छूट होगी या नहीं, कितनी लागत के कार्यों में बीड केपिसिटी की छूट रहेगी, निविदा किस स्तर पर (जिला/प्रदेश) आमंत्रित की जाएंगी। निविदा ऑनलाईन होगी या ऑफलाईन, एक निविदा के बाद अतिरिक्त कार्य कैसे मिलेगा और विवाद रहित कार्यक्षेत्र उपलब्ध कराने संबंधी आदि प्रश्न किए गए।

मिशन संचालक एस. प्रकाश ने बैठक में किए गए प्रश्नों और शंकाओं का समाधान करते हुए निविदाकारों को संतुष्ट किया और उनके द्वारा दिए गए सुझावों को तकनीकी समिति की ओर भेजने का निर्देश दिया। उन्होंने दिए गए सुझावों का नियमानुसार परीक्षण कर निविदा के प्रारूप में समाहित करने के निर्देश अधिकारियों को दिए।

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %
Next Post

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की पहल पर अपनाई गई सस्ती, परंपरागत और अनूठी तरकीब

रायपुर : फसल संरक्षण की सस्ती, परंपरागत और अनूठी तरकीब अपनाते हुए छत्तीसगढ़ ने एक पंथ और कई काज की कहावत को चरितार्थ कर दिखाया है। हर साल संग्रहण केंद्रों में खरीदे गए धान की बड़ी मात्रा जहां नमी, बारिश, ओलावृष्टि, चूहों और दीमक की वजह से खराब हो जाती […]