अफवाह के कारण बांद्रा स्टेशन पर हजारों की भीड़, एनजीओ संचालक को 7 दिन की पुलिस रिमांड पर भेजा

vedantbhoomidigital
0 0
Read Time:3 Minute, 5 Second

तीन मई तक लॉकडाउन बढ़ाए जाने की घोषणा के बाद मंगलवार को प्रवासी कामगार मुंबई के बांद्रा रेलवे स्टेशन और ठाणे के मुंब्रा इलाके में अचानक बड़ी संख्या में सड़कों पर उतरकर गृहराज्य भेजे जाने की मांग करने लगे। वहां इन्होंने सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते हुए घर भेजने जाने की मांग की थी। इन्हें हटाने के लिए पुलिस को लाठीचार्ज करनी पड़ी थी। बांद्रा में जमा करीब 3,000 लोगों की भीड़ को वापस उनके घरों तक भेजने के लिए पुलिस को हल्का बल प्रयोग करना पड़ा। बताया जा रहा है कि ट्रेन चलने का एक मैसेज वायरल होने के कारण बड़ी संख्या में लोग स्टेशन पर जुटने लगे थे। वहीं महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख ने कहा कि ट्रेनें शुरू होने की अफवाह फैलाने वालों के खिलाफ आदेश जारी किए गए हैं। अफवाह फैलाने वालों के खिलाफ सख़्त कार्रवाई की जाएगी।

मुंबई के बांद्रा स्टेशन पर भीड़ के इकट्ठा होने के मामले में पुलिस ने बुधवार को कार्रवाई की। करीब एक हजार मजदूरों के खिलाफ लॉकडाउन का उल्लंघन करने का मामला दर्ज किया है। वहीं, एनजीओ संचालक विनय दुबे को गिरफ्तार और एक पत्रकार को अफवाह फैलाने के आरोप में हिरासत में लिया। आजाद मैदान पुलिस ने दुबे को कोर्ट में पेश किया। अदालत ने 21 अप्रैल तक पुलिस रिमांड पर भेज दिया। पुलिस का दावा है कि इन्होंने ही अफवाह फैलाई थी कि ट्रेन और बस सेवाएं शुरू हो रही हैं।

इसके बाद शाम को अपने संबोधन में मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने प्रवासी कामगारों को आश्वस्त करते हुए कहा, आप अन्य राज्यों से यहां आकर रह रहे हैं तो आपको चिंता करने की जरूरत नहीं है। महाराष्ट्र सरकार आपकी सारी व्यवस्था करेगी। लॉकडाउन का मतलब लॉकअप नहीं है। लॉकडाउन खत्म होते ही राज्य व केंद्र सरकार आपको आपके घर भेजने की व्यवस्था करेगी। लोगों को घबराने की ज़रूरत नहीं है, सरकार उनकी समस्याएं सुलझाने की हर संभव कोशिश कर रही है. बीते 24 मार्च को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 21 दिनों के लॉकडाउन की घोषणा की थी. ये लॉकडाउन 14 अप्रैल यानी मंगलवार को ख़त्म हो रहा था.

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %
Next Post

एनआईवी पुणे के वैज्ञानिक कोरोना वायरस के दवा पर कर रहे शोध, लग सकते हैं कुछ सप्ताह या महीने

दुनिया भर में तबाही मचाने वाले नए कोरोना वायरस के लिए तमाम वैज्ञानिक शोध करने में जुटे हैं और उपचार के लिए तलाश जारी है। ऐसी स्थिति में हमारे भारत देश के वैज्ञानिक भी इस खोज में लगे हुये हैं। भारतीय वैज्ञानिकों ने जीवित कोरोना वायरस पर दवा का ट्रायल शुरू […]