भारत में अगले साल होगी महिला विश्व मुक्केबाजी चैम्पियनशिप

7

नयी दिल्ली. भारत में 2023 में महिला विश्व मुक्केबाजी चैम्पियनशिप होगी जबकि दो साल पहले जरूरी फीस जमा नहीं करने की वजह से भारत से पुरूष विश्व चैम्पियनशिप की मेजबानी छीन ली गई थी . भारत में कभी पुरूष विश्व चैम्पियनशिप नहीं हुई है लेकिन तीसरी बार महिला चैम्पियनशिप होगी . इससे पहले दिल्ली  में 2006 और 2018 में चैम्पियनशिप हो चुकी है .

आईबीए (अंतराष्ट्रीय मुक्केबाजी संघ) अध्यक्ष उमर क्रेमलेव और बीएफआई (भारतीय मुक्केबाजी महासंघ) के अध्यक्ष अजय ंिसह की मौजूदगी में बुधवार को यहां समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर हस्ताक्षर किए गए. अजय ंिसह ने कहा, ‘‘ महिला विश्व चैंपियनशिप मार्च 2023 में दिल्ली में होगी.’’ उन्होंने कहा, ‘‘महिला मुक्केबाजी में बड़े पैमाने पर सुधार दिखा है, हम दुनिया के शीर्ष देशों में से हैं. पिछले सत्र में हम पदक तालिका में तीसरे स्थान पर थे. हमारा लक्ष्य इसमें और सुधार करना है.’’

उन्होंने कहा, ‘‘ इस चैम्पियनशिप में 75 से 100 देशों के लगभग 1,500 मुक्केबाजों और कोच के भाग लेने की उम्मीद है.’’ चैंपियनशिप में ऐतिहासिक ‘बाउट रिव्यू सिस्टम (समीक्षा प्रणाली)’ की शुरुआत भी होगी. अजय ंिसह ने कहा, ‘‘भारत में होने वाली विश्व चैंपियनशिप पहली ऐसी प्रतियोगिता होगी जिसमें तकनीक आधारित समीक्षा प्रणाली का इस्तेमाल किया जाएगा. यानी किसी भी विवाद की समीक्षा मुकाबले के दौरान हो सकेगी.’’

इस आयोजन के लिए पुरस्कार राशि में भी बढ़ोतरी की गयी है. अब पुरस्कार के तौर पर लगभग 19.50 करोड़ रुपये की कुल राशि दी जायेगी. स्वर्ण पदक विजेताओं को लगभग 81 लाख रुपये से सम्मानित किया जाएगा. भारत ने 2021 में पुरूष चैम्पियनशिप की मेजबानी र्सिबया को गंवा दी थी क्योंकि मेजबानी फीस का भुगतान नहीं हो सका था. पिछली महिला विश्व चैम्पियनशिप में भारत ने तीन पदक जीते थे जिसमें निकहत जरीन का स्वर्ण पदक शामिल है.

मुक्केबाजी को लॉस एंजिलिस ओलंपिक (2028) के प्रारंभिक खेल कार्यक्रम से बाहर कर दिया गया है लेकिन क्रेमलेव को भरोसा है कि इस खेल को बाद में शामिल किया जाएगा. आईबीए अध्यक्ष ने कहा, ‘‘ आप ंिचता मत करो. इसे कार्यक्रम में शामिल किया जाएगा. पेरिस ओलंपिक का आयोजन पूरा होने दें फिर हम उस पर काम करेंगे.’’

उन्होंने कहा, ‘‘ आईबीए ने अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति द्वारा प्रस्तावित सिफारिशों को शत प्रतिशत पूरा कर लिया है. ओलंपिक से मुक्केबाजी के बाहर होने का सवाल ही नहीं है.’’ इस मौके पर विश्व चैम्पियनशिप विजेता निकहत जरीन ने कहा कि अगर वह अपने खिताब का बचाव करने में सफल रही तो वह पुरस्कार राशि से र्मिसडीज कार खरीदेंगी और क्रेमलेव को अपने गृह शहर हैदराबाद में आमंत्रित करेगी.

निकहत ने कहा, ‘‘ नकद पुरस्कार के साथ मैं हैदराबाद में एक नया घर खरीदना चाहती हूं. उम्मीद है कि मैं अगले साल फिर से जीतूंगी और उस रकम से मैं एक र्मिसडीज खरीद कर आईबीए अध्यक्ष को हैदराबाद में आमंत्रित कर उनके साथ सैर पर जाऊंगी.’’ निकहत की इस बात पर रूस के इस खेल अधिकारी ने कहा, ‘‘अगर निकहत विश्व चैंपियनशिप जीतती है तो मैं उपहार में उसे एक र्मिसडीज कार दूंगा.’’

youtube channel thesuccessmotivationalquotes